yoga for weight loss in hindi best 50 tips

yoga for weight loss in hindi – योग आपको शारीरिक व मानसिक दोनों तरह से फिट रखता है। योग करने से शरीर मजबूत होता है, मांसपेशियां टोन होती है और वजन भी कम होता है। योग ना सिर्फ शरीर पर जमा चर्बी को कम करता हैं बल्कि शरीर को लचीला भी बनाता हैं जिससे आप स्वस्थ रहते हैं। नियमित रूप से योग करने से आप वजन कम करने के साथ शेप में भी आ जाते हैं। yoga for weight loss in hindi

अन्तर्राष्ट्रीय योग दिवस क्या है ओर क्यो मनाया जाता है ?

वजन कम करने के लिए योग -yoga for weight loss in hindi

 

yoga for weight loss in hindi

yoga for weight loss in hindi

 

मोटापा लोगों के लिए किसी बोझ से कम नहीं होता अत्यधिक वजन वाले लोग मोटापे को बोझ की तरह हर जगह ढोते रहते हैं यदि आप अपने उन कपड़ों को पहनने के बारे में सोच रहे हैं जो कि अब आपको फिट नहीं होते और

 

जो आपको सबसे ज्यादा पसंद थे तो आपको अपने मोटापे को कम करना आवश्यक हो जाता है वैसे तो मोटापे को कम करने के कई तरीके हैं जैसे कि जिम में जाकर मेहनत करना परंतु जब आप जिम में जाकर अत्यधिक मेहनत करते हैं तो आप की मांसपेशियों में ऐंठन के साथ-साथ शरीर में अत्यधिक दर्द भी होता है|

Advertisement

 

एलोवेरा के 20 जबर्दस्त फायदे | aloe vera 20 benefits

 

इससे बचने के लिए आप किसी विकल्प की तलाश में लग जाते हैं आज हम आपको एक ऐसा आसान तरीका बताने वाले हैं जिससे आप अपनी मांस पेशियों को दर्द दिए बिना ही अपना मोटापा कम कर पाएंगे यहां हम आपको वजन

yoga for weight loss in hindi

 

yoga-for-weight-loss-in-hindi

yoga for weight loss in hindi

 

घटाने के लिए सबसे असरदार 6 योगासन के बारे में बताने वाले हैं जिन्हें आप प्रतिदिन करके अपनी अतिरिक्त वसा को नष्ट कर पाएंगे और अपने वजन को कम कर पाएंगे आइये जानते है वजन घटाने के लिए सबसे असरदार 6 योगासन के बारें में.

 

 

धनुरासन  – yoga for weight loss in hindi

Advertisement

इस योग आसन में शरीर की आकृति सामान्य तौर पर खिंचे हुए धनुष के समान हो जाती है, इसीलिए इसे धनुरासन कहते हैं। धनुरासन से पेट की चरबी कम होती है।

 

yoga for weight loss in hindi

yoga-for-weight-loss-in-hindi

धनुरासन

इससे सभी आंतरिक अंगों, मांसपेशियों और जोड़ों का व्यायाम हो जाता है। इसे करने के लिए सबसे पहले पेट के बल लेट जाये। फिर दोनों पैर आपस में एक-दूसरे से जोड़ें।

दोनों पैरों को घुटनों से मोड़ें। घुटनों तथा पंजों के बीच में एक फुट का अंतर रख कर दोनों पैरों के टखनों को हाथों से पकड़ें।

 

हाथों के सहारे दोनों पैरों के घुटने, जांघ तथा धड़ को सुविधानुसार एवं क्षमतानुसार ऊपर उठाएं। श्वास-प्रश्वास सहज रखें। इस स्थिति में आरामदायक अवधि तक रुक कर वापस पूर्व स्थिति में आएं।

 

 

कपालभाती योगासन – Kapalbhati in hindi

लाभ: कपालभाती वजन कम करने और मोटापे को नियंत्रित करने का एक असरदार तरीका है इस प्राणायाम के नियमित अभ्यास से आप अपने दिल के कामकाज, यकृत, अग्न्याशय, पेट और गुर्दे को बेहतर बना सकते हैं।

 

yoga for weight loss in hindi

yoga-for-weight-loss-in-hindi

कपालभाती योगासन – Kapalbhati in hindi

 

विशेषज्ञों के मुताबिक, इस प्राणायाम को जब हम जबरदस्त ताकत के साथ करते हैं तो शरीर में विषाक्त पदार्थों का 80% भाग बाहर निकल जाता है।

 

यह गहरी साँस लेने वाला व्यायाम है जो पेट की विकार, कब्ज, अपच, अम्लता का इलाज करता है प्रतिरक्षा प्रणाली को मजबूत करता है, डायाफ्राम में लचीलापन लाता है और इसे मजबूत बनाता है, हर्नियास के विकास के जोखिम को कम करता है,

 

रक्त परिसंचरण में सुधार लता है, स्तन कैंसर का इलाज, तंत्रिका तंत्र को सक्रिय करता है, मन को शांत करता है और तनाव कम कर देता है|

 

Advertisement

 

 

कपालभाती करने का तरीका – How to do Kapalbhati in hindi

yoga for weight loss in hindi

yoga-for-weight-loss-in-hindi

कपालभाती

कपालभाती करने के लिए अपने दोनों पैरों को जोड़कर फर्श पर बैठ जाएंअपनी गर्दन को सीधा रखते हुए अपने घुटनों पर अपनी हथेलियों को रखें

और आंखें बंद कर ले अब धीरे-धीरे सांस लें और जल्दी जल्दी सांस को बाहर छोड़ते रहे जब आप सांस को बाहर छोड़ते हैं तो आपको लगेगा कि आपका पेट अंदर की तरफ जा रहा है|

इस प्रक्रिया को कम से कम 5 से 10 मिनट के लिए दोहराएं.yoga for weight loss in hindi

 

 

 

 

कपालभाती के लिए सावधानियां – Precautions for Kapalbhati in hindi

रीढ़ की हड्डी के विकार, हृदय की समस्या और हर्निया से पीड़ित लोगों को कपलभाती का अभ्यास नहीं करना चाहिए जिन लोगों को उच्च रक्तचाप, स्ट्रोक और हृदय की समस्याएं हैं, उन्हें विशेषज्ञ मार्गदर्शन के तहत अभ्यास करना चाहिए या धीरे-धीरे 2 से 3 सेकंड में 1 साँस छोड़ना चाहिए।

 

yoga for weight loss in hindi

yoga-for-weight-loss-in-hindi

कपालभाती

यदि किसी को श्वसन तंत्र विकार है तो उसे अभ्यास करने से पहले डॉक्टर से परामर्श करने की आवश्यकता है। गर्भधारण के दौरान और मासिक धर्म या अवधि के दौरान महिलाओं को कपलाभाती का अभ्यास नहीं करना चाहिए|

 

 

 

 

Advertisement

 

 

पश्चिमोत्तानासन – yoga for weight loss in hindi
यह आसन पेट की चर्बी घटाने में काफी कारगर है। इस आसन से शरीर की सभी मांसपेशियों पर खिंचाव पड़ता है। इसे करने के लिए पैरों को सामने फैलाकर बैठ जाएं अब हथेलियों को घुटनों पर रखकर सांस भरते हुए हाथों को ऊपर की ओर उठाएं व

 

yoga for weight loss in hindi

yoga-for-weight-loss-in-hindi

पश्चिमोत्तानासन

कमर को सीधा कर ऊपर की ओर खींचे, अब सांस छोड़ते हुए आगे की ओर झुकें व हाथों से पैरों के अंगूठों को पकड़कर माथे को घुटनों पर लगा दें। ध्‍यान रखें कि घुटने मुड़ने नहीं चाहिए। और कोहनियों को जमीन पर लगाने का प्रयास करें।

 

 

 

अनुलोम–विलोम प्रणायाम – yoga for weight loss in hindi

अनुलोम–विलोम प्रणायाम में सांस लेने व छोड़ने की विधि को बार-बार दोहराया जाता है। इस प्राणायाम को ‘नाड़ी शोधक प्राणायाम’ भी कहा जाता है।

yoga for weight loss in hindi

 

 

yoga-for-weight-loss-in-hindi

अनुलोम–विलोम प्रणायाम

 

अनुलोम-विलोम को नियमित करने से शरीर की सभी नाड़ियों स्वस्थ व निरोग रहती है। इस प्राणायाम को किसी भी आयु का व्यक्ति कर सकता है। अनुलोम–विलोम प्रणायाम करने के लिए दरी व कंबल बिछाकर उस पर अपनी सुविधानुसार पद्मासन, सिद्धासन, स्वस्तिकासन अथवा सुखासन में बैठ जाएं।

 

अब अपने दाहिने हाथ के अंगूठे से नाक के दाएं छिद्र को बंद करें और नाक के बाएं छिद्र से सांस अंदर भरें और फिर ठीक इसी प्रकार बायीं नासिका को अंगूठे के बगल वाली दो अंगुलियों से दबा लें। इसके बाद दाहिनी नाक से अंगूठे को हटा दें और सांस को बाहर फैंके।

 

 

Advertisement

इसके बाद दायीं नासिका से ही सांस अंदर लें और दायीं नाक को बंद करके बायीं नासिका खोलकर सांस को 8 तक गिनती कर बाहर फैंकें। इस क्रिया को पहले 3 मिनट और फिर समय के साथ बढ़ाते हुए 10 मिनट तक करें।

 

 

अनुलोम विलोम के लिए सावधानियां – Precautions for Anulom Vilom in hindi

प्राणायाम खाली पेट पर किया जाना चाहिए।धीरे धीरे शुरू करें और इस तरह से साँस लें कि हवा को फेफड़े में जाना चाहिए और पेट में नहीं जाना चाहिए।

 

अपने भोजन के बाद तुरंत अभ्यास न करें और अपने भोजन और प्राणायाम अभ्यास के बीच 4 घंटे के अंतराल रखें। ताजा हवा में इस प्राणायाम का अभ्यास करें, ज़्यादा मत करें, इससे थकान हो सकती है यह प्राणायाम गर्भवती महिलाओं के लिए अच्छा है, लेकिन अधिक नहीं करना चाहिए|

 

 

 

भुजंगासन- yoga for weight loss in hindi

पेट की चर्बी कम करने, कमर पतली करने और कंधे चौड़े व बाजू मजबूत करने में यह आसन बहुत फायदेमंद होता हैं। शरीर को लचीला और सुडौल बनाने में इसका बहुत महत्व है। भुजंगासन को कोबरा पोज भी कहते हैं। क्‍योंकि यह दिखने में फन फैलाए एक सांप जैसा पॉस्चर बनाता है।

yoga for weight loss in hindi

yoga-for-weight-loss-in-hindi

भुजंगासन

 

 

इसे करने के लिए पेट के बल जमीन पर लेट जाएं। अब दोनों हाथ के सहारे शरीर के कमर से ऊपरी हिस्से को ऊपर की तरफ उठाएं, लेकिन कोहनी आपकी मुड़ी होनी चाहिए। हथेली खुली और जमीन पर फैली हो। अब शरीर के बाकी हिस्सों को बिना हिलाए-डुलाए चेहरे को बिल्कुल ऊपर की ओर करें। कुछ समय के लिए इस मुद्रा में यूं ही रहें।

 

 

 

पूर्वोत्तानासन – Predetermination – yoga for weight loss in hindi

Advertisement

 

 

yoga-for-weight-loss in-hindi

पूर्वोत्तानासन

 

 

इस आसन से चर्बी घटाने में आसानी होती है। यह शरीर के निचले भाग और बाजुओं को सुडौल बनाने के लिए अच्छा आसन है। इससे शरीर लचीला रहता है।

 

इसे करने के लिए अपने पैरों को सामने की ओर फैलाकर सीधे बैठ जाएं। ध्‍यान रखें कि पंजे जुड़े हुऐ और रीढ़ की हड्डी सीधी होनी चाहिए। अब दोनों हाथों को जमीन पर टिकाकर कमर के निचले हिस्से को ऊपर की ओर उठाएं। कुछ सेकंड इस अवस्था में रहने के बाद वापस सामान्य अवस्था में आ जाएं।

 

 

तो दोस्तों उम्मीद करता हूँ की yoga for weight loss in hindi  की यह पोस्ट आपको बहुत पसंद आई होगी | सेहत के प्रति आपकी जानकारी जानकारी मे इजाफा हुआ होगा |

दोस्तों मैं चाहता हूँ की yoga for weight loss in hindi की  यह जानकारी जादा से जादा लोगो तक पहुंचे ताकि वो भी इस पोस्ट को पढ़ कर लाभ उठा सके |इसलिए इस जानकारी को जादा से जादा लोगो मे शेयर करे |

 

 

 

यदि स्वस्थ जीवन जीना चाहते हो तो – जान लो सेहत से जुड़ी ये खास बाते -health tips in hindi

 

आज कल  ज़्यादातर लोग धन कमाने मे इतने व्यस्त हो गए हैं की अपनी सेहत की तरफ ध्यान ही नहीं देते।जिसके चलते मोटापा ,मधुमेह ,दिल की बीमारियाँ ,पेट की बीमारी ,जैसी नई नई छोटी बड़ी बीमारियों से घिरे जाते है .

लंबे समय तक जीवन का असली आनंद तभी ले पगोगे जब आप स्वस्थ रहोगे आपका शरीरी निरोगी रहेगा | धन तो फिर भी कमाया जा सकता है लेकिन एक बार स्वस्थ बिगड़ जाए तो बहुत मुश्किल से सुधरता है , या फिर सारी जिंदगी दवाइयों के सहारे चलना पड़ता है |इसलिए जीवन मे धन से जादा एक अच्छी सेहत का होना  जरूरी है |

 

 

 

Advertisement

एसी ही और भी तमाम पोस्ट पढ़ने के लिए घरेलू उपचार वाली केटेगरी मे विजिट करे |हमारे इस ब्लॉग मे घरेलू नुस्खो को लेकर तमाम पोस्ट पढ़ने के लिए घरेलू नुस्खो वाली केटेगरी मे जाए |हम अपने इस ब्लॉग पर स्वास्थ्य से संबन्धित पोस्ट डालते रहते है |

 

immunity-power-kaise-badhaye 

जरूर पढ़े – शरीर को स्वस्थ,मजबूत ,और सुंदर बनाने के लिए एक हज़ार से भी जादा हैल्थ एवं निरोगी टिप्स

जरूर पढ़े – छोटी बड़ी बीमारियों को ठीक करने के लिए दादी माँ के एक हज़ार से भी जादा असरदार घरेलू नुस्खे  

जरूर पढ़े– हल्दी वाले दूध के 11 बेहतरीन फायदे| कब ?- कैसे ?- और कितना use करना है |

turmeric

 

राममूर्ति नायडू | Rammurthy Naidu

जरूर पढ़े – बासी  रोटी खाने के ज़बरदस्त फायदे  

yoga for weight loss in hindi best 50 tips

यहां click करे- जानिए कितना खतरनाक  है चक्की से पिसा हुआ आटा ? 

multigrain-wheat-benefits

  • एलोवेरा भरपूर फाइदा उठाने के लिए इसका  सही उपयोग जान लें | कब? – कितना?  और कैसे करना करना चाहिए  एलोवेरा का उपयोग ?Aloe Vera
benefits-of-honey

 

 

Advertisement
Advertisement

You may also like...

2 Responses

  1. Rekha says:

    Mujhe ye sabhi aasan ache lage thank you

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *