human heart | मानव हिर्दय की सरंचना और इसकी कार्य विधि :-

सरल भाषा मे जाने क्या है हिर्दय, इसकी सरंचना और इसकी कार्य विधि | human heart :-

 

इंसान का हिर्दय human heart – इंसान का हिर्दय शरीर मे छाती के बीचों बीच थोड़ा सा बाए फेफड़े की तरफ होता है। एक सामान्य हिर्दय एक बार मे 72 बार धड़कता है और पूरे शरीर मे जाल की तरहा फैली हुई वाहिनियों के द्वारा रक्त को शरीर के कोने कोने तक पहुंचाता है। इसी रक्त संचार प्रक्रिया मे पोषक तत्वों को भी शरीर के सभी भागो मे पहुंचाता है। 

 

 

 

सामान्य स्थिति में ह्रदय प्रति मिनट शरीर में 6 से 7 लीटर रक्त का परिसंचरण करता है। लेकिन दौड़ते समय या अन्य कठोर शारीरिक परिश्रम करते समय यह 20 से 30 लीटर खून परिसंचरणकरता हैहृदय 3 माह के गर्भस्थ भ्रूण से लेकर मनुष्य के जीवित रहने तक लगातार कार्य करता है।human heart
शरीर से अलग होने के बाद भी धड़कता रहता हैदिल – 
ताज्जुब की बात है की इंसान के भ्रूण मे 23वेदिन से ही हिर्दय का धड़कना शुरू हो जाता है यह आश्चर्य जनक है की हिर्दय को शरीर से अलग करने के बाद भी हिर्दय धड़कता रहता है,और तब तक धड़कता रहता है जब तक इसे पर्याप्त मात्रा मे ऑक्सीज़न मिलती रहती है क्यों की इसका खुद का विद्धुत आवेग होता है।human heart
9000 लीटर रक्त पम्प कर देता है
विश्राम अवस्था मे हमारा हिर्दय एक मिनट मे 72 बार धड़कता है। कठिन परिक्ष्रम के समय या दौड़ते वक्त हिर्दय की गति 220 तक पहुच जाती है। एक स्वस्थ व्यक्ति का हिर्दय 24 घंटे मे 100000 बार से भी अधिक  धड़कता है तथा करीब 9000 लीटर रक्त पूरे शरीर मे संचार करता है। 
human heart
हिर्दयका वज़न और आकार
दिल का वजन 250से 350 ग्राम है यह 12 सेंटीमीटर लंबा, 8 सेंटीमीटर चोड़ा, और 6 सेंटीमीटर मोटा यानि आपकी दोनों हाथो की मुट्ठी के आकार का होता है। दिल एक मिनट मे 72 बार, एक दिन मे लगभग एक लाख बार से भी ज़्यादा और पूरी ज़िंदगी मे लगभग 2.5 अरभ बार से भी अधिक धड़कता हैhuman heart
हिर्दय की तीव्रता-
नए पैदा हुए बच्चे की दिल की धड़कन सबसे अधिक तेज़ होती है 70-160 बीट प्रति मिनट और बुढ़ापे मे दिल की धड़कन सबसे धीरे होती है 13-40 बीट प्रति मिनट।अभी तक किसी इंसान की सबसे कम धड़कन 26 बीट प्रति मिनट और सबसे ज़्यादा धड़कन 480 बीट प्रति मिनट रेकॉर्ड की गई है।human heart
हिर्दय की सरंचना
इंसान का हिर्दय शरीर मे छाती के बीचों बीच थोड़ा सा बाए फेफड़े की तरफ होता है।इंसान के हिर्दय की आंतरिक सरंचना मे हिर्दय 4 वेशमों का बना होता है । दो अलिंद (artrium) और दो निलय (ventricles)
दोनों अलिंद अंदरूनी अलिंद पट्टी द्वारा भिन्न होते है अंदरूनी अलिंद पट्टी (inter articulam septum) पर एक छोटा
सा गढ़्ढ़ा होता है जिसे कोस ओवेलिस कहते है यह वास्तव मे भ्रूणास्थ अवस्था मे पाए जाने वाले छिद्र फ़ोरामेन ओवेलिस का अवशेस होता है।human heart
दाहिने अलिंद मे मोटी महाशिरए अलग अलग छिद्रो द्वारा खुलती है जिनहे अग्र्र्महाशिरा अर्थात “इंफीरियर वेनकेवा”
तथा सुपीरियर वेनकेवा कहते है बाएं अलिंद मे फेफड़ो से शुद्ध रुधिर लाने वाली पल्मोनरी शिराए आकार खुलती है
अलिंद की भित्ति, निलय की अपेक्षा पतली होती है जबकि निलय की भित्ति, अलिंद की अपेक्षा मोटी  होती है दोनों
असमान निलय आंतर निलय पट्टी (inter articulam septum)द्वारा विभाजित होते है। दाहिने आलिंद निलय छिद्र द्वारा त्रिवलन कपाट (tricuspid value) तथा बाहिने अलिंद निलय कपाट पर दुईवलन कपाट (bicuspid value) होता है।human heart
कपाट हिर्दय रज्जुओ (chordae tendinae) द्वारा निलय भित्ति पर स्थित पेशी स्तंभो (papillary muscles)द्वारा जुड़े  रहते है। ये रक्त को विपरीत दिशा मे जाने से रोकते है।
human heart
दाहिने निलय के अगले भाग के बाएं ओर से एक पल्मोनरी चाप या फुफ्फुशीय महाधमनी (pulmonary arch) से निकाल कर फेफड़ो को अशुद्ध कर पहुंचाती है|
human heart
निलय की गुहा मे जिस स्थान से पलमोनरी महाधमनी निकली है वह तीन अर्धचंद्राकार कपाट (semilunar value) होते है जो रक्त को निलय से पलमोनरी महाधमनी मे तो जाने देते है परंतु उसे निलय मे वापिस नही आने देते।
इसी प्रकार बाए निलय से निकलने वाली कैरोटिकों सिस्टमिक चाप के उद्दम स्थान पर भीतीन अर्धचंद्राकार कपाट होते है जो रक्त को वापिस निलय मे नही जाने देते है।human heart
हिर्दय की कार्य विधि
हिर्दय का प्रमुख कार्य बिना थके लगातार शरीर के विभिन्न भागो तक ऑक्सीज़न रहित रक्त का संचार करना है पूरे शरीर मे छोटी बड़ी शिराए यानि वाहनियो का जाल फैला होता है जो कि हिर्दय की धमनियो से जुड़ी होती है जब हिर्दय  पम्प करता  है तब रक्त इन्ही धमनियो से होता हुआ वाहनियो के द्वारा पूरे शरीर मे संचार करता है।human heart


सबसे पहले:-

हिर्दय मे धमनी (पल्मोनरी धमनी) और शिराए(पल्मोनरी शिराए) दो प्रकार की नलिकाए होती है। धमनी मे शुद्ध रक्त बहता है जबकि शिराओ मे अशुद्ध रक्त बहता है शरीर के विभिन्न भागो से अशुद्ध रक्त शिराओ द्वारा हिर्दय को पहुंचाया जाता है,

 

 


हिर्दय इस अशुद्ध रक्त को शुद्ध करने के लिए फेफड़ो मे पहुंचाता है। फेफड़ो तक रक्त पहुंचते ही वह ऑक्सीज़न रहित हो जाता है।फिर धमनियो द्वारा रक्त पूरे शरीर मे जाता है तथा शिराओ द्वारा रक्त पुन्हा वापिस धमनियों से हिर्दय तक पाहुंचता है।human heart

 

 

 

पल्मोनरी धमनी मे अशुद्ध रक्त बहता है तथा पल्मोनरी शिरा मे शुद्ध रक्त बहता है। इस कार्य को सम्पन्न करने के लिए हिर्दय हर पल सिकुड़ता तथा फैलता रहता है। इस प्रकार एक मिनट मे हिर्दय 72 बार सिकुड़ता तथा संकुचित होता रहता है| हिर्दय के बार बार इसी सिकुड़ने तथा संकुचित होने को हिर्दय का धड़कना (hart beat) कहते है।human heart

human heart
human heart
राममूर्ति नायडू | Rammurthy Naidu
health-tips

यदि ज़िंदगी भर निरोगी रहना चाहते हो तो – जान लो सेहत से जुड़ी ये खास बाते 

 

यहां click करे- आज से ही खाना बंद कर दो चीनी | sugar| यदि आप भीचीनी से बनी हुई या फिर direct चीनी दल केआर उसे पी  रहे हो या खा रहे हो तो हो जाओ सावधान |इस article मे  चीनी के सेवन से शरीर पर होने वाले हानिकारक प्रभाव के बारे मे आपको बताया गया है ।  इसके इलवा मिठास के लिए आप चीनी की जगह पर आप क्या क्या उपयोग कर सकते है उसके बारे मे भी बताया गया है ……………. 

 

 

यहां click करे-  जानिए किस हद्द तक खतरनाक है मोबाइल और टावर से निकलने वाली खतरनाक रेडिएशन  यह किस प्रकार से शरीर को  नुकसान पहुचाती   है और कैसे इस रेडिएशन से बचा जा सकता है 

 

यहां click करे-tips for weight loss in hindi-motapa kaise ghataye वजन घटाने के ऐसे तरीके जो आपको कही और नहि मिलेंगे ज़रूर शेयर करे अपने  whatsapp ग्रुप  पर अपने दोस्तों और रिश्तेदारों को 

 

यहां click करे-  किस हद्द तक खतरनाक है जंक फूड आपकी सेहत के लिए | किस फूड के साथ क्या क्या खाना चाहिए और क्या क्या नहीं खाना चाहिएसाथ  जानिए इनके नुकसान|  कब-कितना-कैसे -किस फूड के  साथ क्या खाना –पीना चाहिए और क्या नहीं -जानिए सब कुछ । ज़रूर शेयर करे अपने  whatsapp ग्रुप  पर अपने दोस्तों और रिश्तेदारों को 

 

यहां click करे- yoga for weight loss in hindiजन लो सही तरीका -कब -और – कैसे करना है ये योगा (yoga)कुछ ऐसे बेहतरीन योगा (yoga) जो खास वज़न घटाने-वज़न दोबारा न बढ़े तथा चर्बी को कम करने के लिए ही बने है | बस शर्त ये है की  इसे सही तरीके से और लगातार करना होगा ।

 

यहां click करे- motapa kam karne ke liye diet | जी हां दोस्तो मोटापा कम करने – मोटापा दोबारा न बढ़े तथा चर्बी घटाने के लिए बहुत मेहनत से एक ऐसा डाइट चार्ट तैयार किया गया  है जिसका उपयोग करने पर मात्र 23 दिनो मे  (within 23 days) आपको उसका ज़बरदस्त result  सामने आजाएगा । बस शर्त यह है की , आपको इस डाइट चार्ट का पालन (comply) अपनी लाइफ मे  पूरी ईमानदारी से करना होगा फिर चमत्कार आपकी आखों के सामने होगा  – ज़रूर शेयर करे अपने  whatsapp ग्रुप  पर अपने दोस्तों और रिश्तेदारों को 

 

 

यहां click करे-Tips for weight lose of women in hindi- महिलाओ (women )मे  पुरूषो (man) के मुक़ाबले  जादा तेज़ी से चर्बी बनती है जिस वजह से मोटापे की अधिकतर समस्स्या  महिलाओं (women) मे अधिक देखी जाती है  । बहुत सी महिलाए इस तेज़ी से बढ़ते मोटापे की समस्या से परेशान है । जो कम होने का नाम ही नहीं लेता । तो इसी बात को ध्यान मे रखकर बहुत आसान और घरेलू उपचार (treatment) आपके के लिए लेकर आए है …. ज़रूर शेयर करे अपने  whatsapp ग्रुप  पर अपने दोस्तों और रिश्तेदारों को 

 

यहां click करे-Mobile radiation is denger for health| जानिए किस हद्द तक खतरनाक है मोबाइल और टावर से निकलने वाली खतरनाक रेडिएशन  यह किस प्रकार से शरीर को  नुकसान पहुचाती  है और कैसे इस रेडिएशन से बचा जा सकता है …..

 

यहाँ click करे – बासी  रोटी खाने के ज़बरदस्त फायदे  यह article पूरा पढ़ने के बाद कभी नहीं फेंकोगे बासी रोटी जानिए क्या सही तरीका बासी रोटी खाने का ?

 

यहां click करे-सेब को कब और कैसे खाने से उसके अनंत फायदे का लाभ उठा सकते है | साथ मे जादा सेब खने के नुकसान भी जानिए  | सेब ,apple खाने के फायदे benefits of apple for skin| 

 

यहां click करे-एलोवेरा भरपूर फाइदा उठाने के लिए इसका  सही उपयोग जान लें | कब? – कितना?  और कैसे करना करना चाहिए  एलोवेरा का उपयोग ? साथ मे जानिए एलोवेरा के नुकसान के बारे मे भी | best use of aloe vera benefits

यहां click करे-Heart Treatment-Angioplasty-bypass surgery कैसे होती है -कितना खर्च आता है – होने के बाद क्या क्या सावधानिया बरते ? 

 

यहां click करे- हार्ट ब्लोकेज का इलाज़ | heart attack treatment| घरेलू उपचार | क्या क्या सावधानिया बरते

 

यहां click करे-how to control diabetes | homeopathic treatment| मधुमेह इसके लक्षण क्या है -कैसे होता है मधुमेह साथ मे जाने घरेलू उपचार और सावधानिया 

 

यहां click करे-Heart attack | Causes, symptoms, and treatments| हार्ट अटैक के लक्षण और उसका इलाज़ तथा सावधानिया

यहां click करे- डायबिटीज के कारण (Causes of Diabetes ) व उपचार-घरेलू उपचार

 

यहां click करे-10 Diabetes Symptoms in Hindi| मधुमेह के 10 लक्षण

 

यहां click करे-कितने प्रकार के होते है मधुमेह | types of diabetes

 

यहां click करे-heart attack | हार्ट अटैक के इलाज़ के बाद बर्ते ये सावधानी

 

यहां click करे- heart attack ka ilaj के बाद बर्ते ये सावधानी| क्या खाना चाइए क्या नहीं ? कैसे सोना  है? – उठना – बैठना है – क्या उठाना है ?

 

यहां click करे-heart attack treatment in hospital| अस्पताल मे हार्ट अटैक का इलाज़ कैसे होता है ? और डॉक्टर के द्वारा बताई गई सभी सावधानिया इलाज़ के बाद |

 

यहां click करे- जानिए क्या है  वो  लापरवाही और रोज़ की आदते  जो हार्ट अटैक का सबसे बड़ा  कारण बनती है जानिए क्यो आता है हार्ट अटैक ?  | हार्ट अटैक आने का सबसे बड़ा   कारण क्या है ?  heart attack causes

 

यहां click करे- human heart | मानव हिर्दय की सरंचना और इसकी कार्य विधि | कैसा होता है और क्या क्या कम करता है मानव हृदय – मानव हिर्दय के बारे मे और भी कई रोचक बाते| 24 घंटे मे कितना खून पंप करता है शरीर मे ?

 

 

ज्ञान से भरे धार्मिक कहानियों का रोचक सफर 

यहाँ click करे- दान का फल ज्ञान से भरे धार्मिक कहानियों का रोचक सफर 

यहाँ click करे- कर्मो का फल – भक्ति की शक्ति – ज्ञान से भरे धार्मिक कहानियों का रोचक सफर 

 

 




Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!