best treatment of heart attack ka ilaj

Table of Contents

हार्ट अटैक के इलाज़ के बाद बर्ते ये सावधानी- treatment of heart attack

treatment of heart attack दोस्तो यदि आपका हार्ट अटैक का इलाज़ हो चुका है और चाहते हो की अब दोबारा ऐसा ना हो तो बर्ते ये ख़ास सावधानिया। इन सावधानियों के अपनाने से आपको आगे चल कर ना केवल दिल मे दोबारा कोई प्रॉबलम आएगी बल्कि इसमे सुधार होना भी शुरू हो जाएगा ।

इस रोग के इलाज़ की वजह से डॉक्टर्स आपके खानपान को लेकर बहुत सारी हिदायते ओर रोकथाम लगा देते है ताकि दोबारा एसा ना हो लेकिन लोग इन हीदयतों को बहुत मुश्किल से ही निभा पते है ।

तो कुछ सावधानिया एसी है जिसे अप अपनी जिंदगी मे अपना कर काफी हद तक पहले जैसा ही फील करेंगे और और वो सब पहले की तरहा ही खा पीसकेंगे और आपकी जिंदगी पहले की तरहा खुशमिसाज़ हो जाएगी।

 

 

 

treatment of heart attack

तो आइए जानते है उन सावधानियों के बारे मे
Advertisement

 

एक बार हार्ट अटैक (heart attack) झेल चुके हृदय के मरीजों को अत्यन्त सावधानी के साथ अपनी जीवन शैली में ऐसे बदलाव अपनाने चाहिये जिससे दूसरी बार अटैक से बचे रहें। हार्ट अटैक (heart attack) के इलाज के बाद मरीज को कुछ बातों का विशेष ध्यान रखना चाहिए। खासकर दवाइयों को नियमित रूप से लेना जरूरी है। इसके अलावा जिसके कारण उसे हार्ट अटैक(heart attack) हुआ था, उसे नियंत्रित करना चाहिए।

 

 

treatment of heart attack

कोलेस्‍ट्रॉल को नियंत्रित करें- treatment of heart attack

कोलेस्ट्रॉल को अपने दिल के करीब न फटकने दें। बढ़े हुए कोलेस्ट्रॉल से दिल से संबंधित बीमारियों का खतरा बना रहता है। इसलिए हाई ब्लड प्रेशर और बढ़े कोलेस्ट्रॉल को नियंत्रित करने के लिए दवाइयों और डाइट पर विशेष ध्यान दीजिए।
treatment of heart attack
नियमित रूप से व्यायाम करें- treatment of heart attack
नियमित रूप से व्यायाम स्वस्थ वजन बनाए रखने में मदद करता है। इससे मधुमेह होने की आशंका भी कम हो जाती है। मधुमेह रोगियों के बीच हार्ट अटैक का खतरा ज्‍यादा होता है। गैर इंसुलिन निर्भर मधुमेह के रोगियों में सभी मौतों में से लगभग आधी दिल की बीमारी के कारण होती हैं।
treatment-of-heart-attack
treatment of heart attack

 

धूम्रपान से दूरी -treatment of heart attack

 

treatment-of-heart-attack
smoking

 

 

जिनको धूम्रपान के कारण हार्ट अटैक हुआ था वो धूम्रपान बिलकुल न करें। रोम के सैन फिलिप्पो नेरी हॉस्पिटल के फ्यूरियो कोलिविच्ची ने अपने शोध में पाया कि दिल का दौरा पड़ने के बाद जो मरीज धूम्रपान फिर से शुरू कर देते हैं उनके साल भर के अंदर मरने का अंदेशा होता है।
best treatment of heart attack ka ilaj

 

जैतून के तेल का इस्‍तेमाल- treatment of heart attack

खाने में तेल के इस्तेमाल से ब्लॉकेज तेजी से बढ़ता है, इसलिए तेल कम-से-कम इस्तेमाल करें। वैसे भी, तेल में अपना कोई स्वाद नहीं होता।
अगर आपको तेल का इस्‍तेमाल करना ही हैं तो जैतून के तेल का प्रयोग करें। जैतून के तेल में फैटी एसिड की प्रचुर मात्रा होती है जो ह्दय रोग का खतरा कम करती है।
treatment-of-heart-attack
treatment of heart attack

 

 

 

यहां click करे- 10 Diabetes Symptoms in Hindi

 

नियंत्रित रखें वजन-heart attack ka ilaj

मोटापा भी ब्लॉकेज बढ़ा सकता है। इसलिए अपनी उम्र और लंबाई के हिसाब से अपना आदर्श भार पता लगाएं और उस भार को पाने और फिर बनाए रखने के लिए मेहनत करें। बीएमआई 25 से ज्यादा और कमर का माप 34 इंच से ज्यादा नहीं होना चाहिए।

शुगर को नियंत्रित रखें-heart attack ka ilaj

शुगर के रोगियों में धमनियों में रक्त का थक्का बनने की संभावना काफी अधिक होती है। यदि मरीज को शुगर है तो शुगर को नियंत्रित करने वाली दवा लेना बहुत जरूरी होता है।
ड्राई फूड को शामिल करें-treatment of heart attack
treatment-of-heart-attack
treatment of heart attack

नट्स रक्त वसा पर सकारात्मक प्रभाव डालता है। साथ ही यह हानिकारक कोलेस्ट्रॉल को कम करने में आपकी मदद करते हैं। इसमें विटामिन ई, मैगनीशियम, फाइबर व पोटेशियम आदि होते हैं जो ह्दय के लिए सुरक्षा तत्व का काम करते हैं।

Advertisement

 

हार्ट अटैक के बाद इन सब बातों को ख्‍याल रख कर और तली-भूनी चीजों और नमक का कम सेवन, नियमित रूप से आधे घंटे तक वॉक, योग व व्यायाम और भोजन में रेशेदार चीजों को शामिल आप आसानी से दूसरी बार आने वाले अटैक के खतरे से बचे रह सकते हैं।

 

treatment-of-heart-attack
तो दोस्तो Treatment of heart attack hindi जानकारी आपको कैसी लगी कमेन्ट करके जरूर बताना | हम आप तक हैल्थ से जुड़ी ऐसी ही हजारो जानकारियाँ लाते रहते है जिनहे पढ़कर न सिर्फ आप अपनी बल्कि अपने दोस्त एवं परिवार के स्वास्थ्य की भी रक्षा कर सकते है उनको आप अच्छी स्वास्थ्य के प्रति सावधान ,सजग और जागरूक कर सकते है | 

 

यदि ज़िंदगी भर निरोगी रहना चाहते हो तो – जान लो सेहत से जुड़ी ये खास बाते 

 

यहां click करे- आज से ही खाना बंद कर दो चीनी |

 

यहां click करे-  जानिए किस हद्द तक खतरनाक है मोबाइल और टावर से निकलने वाली खतरनाक रेडिएशन 

 

यहां click करे- tips for weight loss in hindi-motapa kaise ghataye वजन घटाने के ऐसे तरीके जो आपको कही और नहि मिलेंगे 

 

यहां click करे-  किस हद्द तक खतरनाक है जंक फूड आपकी सेहत के लिए | 

 

यहां click करे- yoga for weight loss in hindi – जन लो सही तरीका -कब -और – कैसे करना है 

यहां click करे- motapa kam karne ke liye diet | 

यहां click करे- Tips for weight lose of women in hindi- 

 

यहां click करे- पेनकिलर खाने वाले सावधान | painkiller is danger for health|  किस हद्द तक खतरनाक है पेनकिलर

 

यहाँ click करे – बासी  रोटी खाने के ज़बरदस्त फायदे  

Advertisement

 

यहां click करे-  सेब को कब और कैसे खाने से उसके अनंत फायदे का लाभ उठा सकते है

यहां click करे- एलोवेरा भरपूर फाइदा उठाने के लिए इसका  सही उपयोग जान लें | कब? – कितना?  और कैसे?

यहां click करे- Heart Treatment-Angioplasty-bypass surgery कैसे होती है -कितना खर्च आता है – होने के बाद क्या क्या सावधानिया बरते ? 

 

यहां click करे- हार्ट ब्लोकेज का इलाज़ | heart attack treatment| घरेलू उपचार | 

 

यहां click करे- how to control diabetes | homeopathic treatment| मधुमेह इसके लक्षण क्या है -कैसे होता है मधुमेह साथ मे जाने घरेलू उपचार और सावधानिया 

 

यहां click करे- Heart attack | Causes, symptoms, and treatments| हार्ट अटैक के लक्षण और उसका इलाज़ तथा सावधानिया

 

यहां click करे- डायबिटीज के कारण (Causes of Diabetes ) व उपचार-घरेलू उपचार

 

यहां click करे- 10 Diabetes Symptoms in Hindi| मधुमेह के 10 लक्षण

 

यहां click करे- कितने प्रकार के होते है मधुमेह | types of diabetes

 

यहां click करे- heart attack | हार्ट अटैक के इलाज़ के बाद बर्ते ये सावधानी

 

यहां click करे- heart attack ka ilaj के बाद बर्ते ये सावधानी| क्या खाना चाइए क्या नहीं ? कैसे सोना  है? – उठना – बैठना है – क्या उठाना है ?

Advertisement

 

यहां click करे- heart attack treatment in hospital| अस्पताल मे हार्ट अटैक का इलाज़ कैसे होता है ? और डॉक्टर के द्वारा बताई गई सभी सावधानिया इलाज़ के बाद |

 

यहां click करे- जानिए क्या है  वो  लापरवाही और रोज़ की आदते  जो हार्ट अटैक का सबसे बड़ा  कारण बनती है 

 

यहां click करे-  human heart | मानव हिर्दय की सरंचना और इसकी कार्य विधि | 

Advertisement
Advertisement

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *