Mother day क्यों मनाया जाता है

नमस्कार दोस्तों, स्वागत है आपका आज की इस पोस्ट mother day पर.

Mothers day यानी माओं को समर्पित एक ऐसा दिन जिसमे आज उनके इस 24 घंटे को एक खूबसूरत दिन बनाने के लिए एक यादगार पल बनाने के लिए प्रयास किये जाते है.

 

Mother day को hindi मे मातृ दिवस कहा जाता है. तो आज Mother day के इस महान अवसर पर हम जानेंगे की Mother day क्यों मनाया जाता है

Advertisement
इसकी शुरुआत कब और केसव हुई. और साथ मे पढ़ेंगे माँ को समर्पित कुछ खूबसूरत विचार. सुविचार

 

Mother day कब मनाया जाता है 

Mother-day

अलग अलग देशों मे लोग माँ के प्रति अपने  प्यार और एहसास को जाहिर करने इस दिन माँ को कुछ ना कुछ उपहार दिये जाते है.

 

माँ, ममता का वो सागर होती है जिसमे प्रेम और करूंगा का पानी सदैव भरा रहता है.

माँ शब्द सुनते ही मन मे भावुकता और ममता का सैलाब उमड़ पड़ता है.

खास कर छोटे बच्चों की जिंदगी मे एक माँ का सबसे बड़ा रोल होता है. अपनी औलाद की रक्षा के लिए माँ अपनी जान की फ़िक्र किये बिना किसी से भी लड़ सकती है.

शायद इसीलिए ये कहा जाता है भगवान हर जगह नहीं हो सकता इसलिए उसने माँ बनाई.

भारत सहित दुनियां के तमाम हिस्सों मे हर साल मई महीने के दूसरे रविवार को मदर्स डे के रूप मे मनाया जाता है.

माँ को सम्मान देने वाले इस दिन को कुछ देशों मे अगल अगल तारीखों मे भी सेलिब्रेट किया जाता है.

 

तो चलिए जानते है Mother day की शुरुआत कब और कैसे हुई.

आधुनिक समय में दुनियाभर के दर्जनों देशों में एक साथ ‘Mother day‘ मनाया जाता है।

हालांकि, पूर्वी देशों में Mother day की  तिथि को कुछ लेकर मतभेद थे।

कुछ ऐतिहासिक घटनाओं की वजह से बोलीविया देश में 27 मई को Mother day मनाया जाता है।

इसकी मुख्य वजह 27 मई, 1812 की क्रांति है, जिसमें स्पेन की सेना ने बॉलीविन महिलाओं की नृसंश हत्या कर दी थी,

जो आजादी के लिए लड़ रही थीं। उन महिलाओं के सम्मान में 27 मई को ‘मदर्स डे’ मनाया जाता है।

Advertisement

वहीं, ग्रीस के लोग अपनी मां के प्रति स्नेह और सम्मान के लिए इस पर्व को हर साल मई महीने के दूसरे रविवार को मनाते हैं ।

 

 

अमेरिका में कब मनाया जाता है

9 मई 1914 को अमेरिका के राष्ट्रपति वुडरो विल्सन ने एक कानून पारित किया,

जिसमें मई महीने के दूसरे रविवार को ‘Mother day‘ मनाने का ऐलान किया गया था.

। उस समय से हर साल ‘Mother day‘ मनाया जाता है।

भारत और कनाडा में भी अमेरिका की तर्ज पर ‘Mother day‘ मई महीने के दूसरे रविवार को मनाया जाता है। यूरोप के कई देशों में इसे मदरिंग डे के रूप में मनाया जाता है.

दोस्तों आज Mother day है. मदर्स डे हर साल दुनियां भर के तमाम देशों मे मई के दूसरे रविवार को मनाया जाता है.

Mother day यानी माओं को समर्पित एक ऐसा दिन जिसमे आज उनके इस 24 घंटे को एक खूबसूरत दिन बनाने के लिए एक यादगार पल बनाने के लिए प्रयास किये जाते है.

अलग अलग देशों मे लोग माँ के प्रति आपने प्यार और एहसास को जाहिर करने के लिए इस दिन माँ को कुछ ना कुछ उपहार देते है.

लेकिन इस लोकडाउन के समय मे आप बाहर से लाए किसी वस्तु उपहार स्वरूप नहीं दे सकते तो कोई बात नहीं.

लोकडाउन के इस समय बस आप अपनी माँ की खूब सेवा करें.पास मे बैठे खूब बातें करें. इनको खुश रखे पुरानी अच्छी यादें ताज़ा करें.
*यकीन मानो ये पल किसी भी उपहार से, बहुत खूबसूरत होंगे*

आज के दिन घर पे कुछ स्पेशल बना कर खूब मनोरंजन करके भी इस दिन को अच्छे से सेलिब्रेट किया जा सकता है.

आज हर माँ के चरणों मे कुछ चंद लाइने बोलना चाहूंगा.

 

इंसान हो या जानवर हर जगह आपको माँ का एक रूप देखने को अवश्य मिलेगा.

दोस्तों, माँ,
ममता का वो सागर होती है जिसमे प्रेम और करूंगा का पानी सदैव भरा रहता है.

माँ शब्द सुनते ही मन मे भावुकता और ममता का सैलाब उमड़ पड़ता है.

खास कर छोटे बच्चों की जिंदगी मे एक माँ का सबसे बड़ा रोल होता है.

Advertisement

अपनी औलाद की रक्षा के लिए माँ अपनी जान की फ़िक्र किये बिना किसी से भी लड़ सकती है.

शायद इसीलिए ये कहा जाता है भगवान हर जगह नहीं हो सकता इसलिए उसने माँ बनाई.

जो डांट के अपने बच्चो को, जा के खुद कोने मे रो देती है, वो माँ साहब और माँ ऐसी ही होती है.

 

Mother day shayari 

 

रुके तो चाँद जैसी है चले तो हवाओ जैसी है, वो माँ ही है, जो धूप मे छाँव जैसी है.

 

माँ तेरे दूध का कर्ज, मुझसे क्या अदा होगा ज़ब तुहि मुझसे नाराज़ तो खुश मुझसे खुदा क्या होगा.

 

 

माँ मैं तेरे लिए क्या लिख दूँ, ये भला तू ही बतादे,

क्योंकि मुझे तो खुद तूने ही लिखा है.

 

 

मैं आज जो कुछ भी हूं या होने की आशा रखता हूं, उसका श्रेय माँ तुझे ही जाता है.

 

 

खिला कर भोजन सबको परिवार मे आखिर मे खुद खाती है, बचा हुआ,

 

थक कर जिसकी आँखे बंद भी होती है वो माँ है, सोती है पर फिर भी फ़िक्र आपकी ही होती है.

Advertisement

 

माँ के नाम मात्र से कोई गम नहीं होता दुनियां साथ दे या ना दे पर माँ का प्यार कभी कम नहीं होता.

 

हमेशा अपनी माँ से प्रेम करें सम्मान करें सेवा करें वरना एक दिन ज़ब माँ नहीं होगी तो याद कर कर के रोवोगे.

माता पिता के चरणों मे ही असली जन्नत है.

 

 

तो दोस्तों उम्मीद करता हूं Mother day की यह पोस्ट आपको पसंद आई होगी. इस पोस्ट को ज़ादा से ज़ादा शेयर करें.

Mother day ko समर्पित इस video को जरूर देखें.

 

जरूर पढ़े- अरुणिमा सिन्हा inspirational बायोग्राफी 

 

ज्ञान से भरी किस्से कहानियों का रोचक सफर | यहाँ मिलेंगे आपको तेनाली रामा और बीरबल की चतुराई से भरे किस्से ,  विक्रम बेताल की कहनियों का रोचक सफर , भगवान बुद्ध कहानियाँ , success and motivational stories और ज्ञान से भरी धार्मिक कहानियाँ 

 

moral-stories-in-hindi

Advertisement
Advertisement

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *