कृतिग्यता का भाव | gretitude 

कृतिग्यता का भाव | gretitude 

समय-समय पर भगवान को न्यवाद देना चाहिए. ना सिर्फ ईश्वर बल्कि उस हर इंसान के प्रति कृतज्ञता gretitude का भाव अवश्य रखे जिसकी वजह आपके बिगड़े काम बने हो, आपको मदद मिली हो, आपकी सफलता मे जिन लोगो का जो भी छोटा बड़ा रोल हो, उन सब के प्रति आभारी रहो और वक्त पड़ने पर निःस्वार्थ मदद अवश्य करो.

Advertisement

कृतिग्यता का भाव | gretitude 

एक बार बहुत बड़े भवन की बिल्डिंग का निर्माण हो रहा था, जिसका ठेकेदार सबसे ऊँची मंजिल पर खड़ा था, उसे एक मज़दूर की जरूरत पड़ी तो उसने नीचे की आवाज़ लगाई. सभी मज़दूर अपने अपने काम मे व्यस्त थे.जो मज़दूर ठेकेदार के ज़ादा नज़दीक था ठेकेदार उस मज़दूर को आवाज़ लगाता रहा.

 

मज़दूर अपने काम मे व्यस्त उसने आवाज़ को अनसुना करते हुए काम मे लगा रहा.

 

 

तभू ठेकेदार ने उसका ध्यान  आकर्षित करने के लिए 

एक रुपये का सिक्का नीचे फेंका,  जो ठीक मजदूर के सामने जा कर गिरा.

 

मजदूर ने सिक्का उठाया,  अपनी जेब में रख लिया, 

और फिर अपने काम मे लग गया.

 

उसका ध्यान खींचने के लिए ठेकेदार ने पुन: 5 रुपये का सिक्का नीचे फेंका. मजदूर ने फिर वही किया. सिक्का जेब मेन रखा, और काम में लग गया.

 

इस बार ठेकेदार ने  10 रु. का सिक्का फेंका. मजदूर ने फिर वही किया. सिक्का जेब मे रख कर  अपने काम में लग गया.

 

ये देख अब ठेकेदार ने  एक छोटा सा पत्थर का टुकड़ा लिया, और मजदूर के उपर फेंका, जो सीधा  मजदूर के सिर पर लगा.

 

अब मजदूर ने ऊपर देखा, और  ठेकेदार से बात चालू हो गयी.

Advertisement

कृतिग्यता का भाव | gretitude से सीख 

तो दोस्तों कहने का मतलब ये की, ऐसा ज़ादातर लोगो की जिंदगी मे भी हो रहा है.

Gratitude

छोटी-छोटी खुशियों के रूप में उपहार देता रहता है, लेकिन हम  उसे याद नहीं करते.  वो खुशियाँ और उपहार  कहाँ से आये, ये ना देखते हुए,  उनका उपयोग कर लेते है, और भगवान को याद ही नहीं करते.

 

हम इंसान अपने काम मे इतना व्यस्त है की सुख के दिनों मे ईश्वर तक को याद करना जरुरी नहीं समझते

किन्तु जैसे ही जीवन मे घोर विपदा आनपढ़ती है तो तुरंत सबसे पहले ईश्वर याद आने लगते है और उसकी चौखट मे जाकर माथा पटकने लग जाते है.

 

 

 

इन्हे भी जरूर पढे

जरूर पढ़े – अवचेतन मन क्या है कैसे इसका सही उपयोग करके जीवन मे कुछ भी हासिल किया जा सकता है |

मोक्ष प्राप्ति का मार्ग 

उदासी मे भी सकारात्मक रहना सीखे

Self development tips hindi 

अध्यात्म क्या है for self improvement

Best learning habits moral story 

 

 

ज्ञान से भरी किस्से कहानियों का रोचक सफर | यहाँ मिलेंगे आपको तेनाली रामा और बीरबल की चतुराई से भरे किस्से ,  विक्रम बेताल की कहनियों का रोचक सफर , भगवान बुद्ध की कहानियाँ , success and motivational stories और ज्ञान से भरी धार्मिक कहानियाँ 

 

Advertisement

moral-stories-in-hindi

 

 

Religious-stories-in-hindi

 

ज्ञान से भरी किस्से कहानियों का रोचक सफर | यहाँ मिलेंगे आपको तेनाली रामा और बीरबल की चतुराई से भरे किस्से ,  विक्रम बेताल की कहनियों का रोचक सफर , भगवान बुद्ध की कहानियाँ , success and motivational stories और ज्ञान से भरी धार्मिक कहानियाँ 

 

moral-stories-in-hindi

 

 

 

 

 

 

Advertisement
Advertisement

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *