hindi moral stories बादशाह और पाँच चोर

hindi moral stories (हिन्दी मोरल स्टोरीस) बादशाह और पाँच चोर –   स्वागत है आपका ज्ञान से भरी रोचक कहानियों की इस दुनिया मे। दोस्तों जीवन मे कहानियों का विशेस महत्तव है |

इन कहानियो के माध्यम से हमे बहुत कुछ सीखने को मिलता है | इनकहानियों के माध्यम से आपको ज़रूरी ज्ञान हासिल होंगे जो आपको आपकी लाइफ मे बहुत काम आएंगे |

Advertisement

यहाँ पर बताई गई हर कहानी से आपको एक नई सीख मिलेगी जो आपके जीवन मे बहुत काम आएगी | हर कहानी मे कुछ न कुछ संदेश और सीख छुपी हुई है | तो ऐसी कहानियो को ज़रूर पढ़े और अपने दोस्तो और परिवारों मे भी शेयर करे | moral stories

 

तो चलिये शुरू करते है हमारी आज की कहानी

 

बादशाह और पाँच चोर | hindi moral stories

यह कहानी है बादशाह कासिम का अपनी आवाम (जनता) प्रजा के प्रति बहुत न्यायवादी होने का  । वह अपनी प्रजा के साथ कभी कोई अनन्याय नहीं होने देता था |

बादशाह के मन मे अपनी जनता के लिए ऐसे  सवाल हमेशा आते रहते थे की उसके राज्य मे क्या हो रहा ? कोई किसी गरीब – लाचार इंसान पर अन्याय यो नहीं कर रहा ?वो कही उसकी गरीबी और लाचारी का फाइदा तो नहीं उठा रहा ?

बादशाह अपने इन्ही सवाल का जवाब पाने के लिए अपनी प्रजा की हिफाजत के लिए रात को भेष बदलकर अपने राज्य में घूमता था| 

 

 

एक बार ऐसे ही बादशाह भेस बदल कर नगर के बाजार मे घूम रहे थे तभी  बादशाह कासिम की नजर 5 ऐसे लोगो पर  जा पड़ी जिनकी बाते औए इरादे नेक नहीं लग रहे थे | पर बादशाह कासिम को नहीं पता था की यह  5 लोग 5 चोर है | बादशाह कासिम यह पता लगाने के लिए की आखिर यह लोग चाहते  क्या है  , तब – 

बादशाह ने उनसे पूछा:- “आप कौन हैं?”

उन्होंने जवाब दिया:- “हम चोर हैं|”

फिर एक चोर ने बादशाह से पूछा कि आप कौन हैं?

बादशाह ने कहा:-” मैं भी चोर हूं|”

 

 

इस पर चोरों ने बादशाह को अपने गिरोह में शामिल कर लिया| अब चोरी करने की सलाह हुई, लेकिन चोरी करने से पहले यह तय हुआ कि उन्हें अपने में से किसी एक को सरदार बनाना चाहिए| इस बात पर सभी चोर सहमत हो गए| सरदार चुनने के लिए जरूरी था कि सब अपना-अपना गुण बयान करें ताकि जिसका गुण सबसे अच्छा हो उसे ही सरदार चुना जाए|

 

Advertisement

पहले चोर ने कहा कि मैं ऐसी रस्सी का ऐसा फंदा लगाता हूं कि एक बार में ही रस्सी फंस जाती है|

दूसरे ने कहा मैं सेंध लगाना बहुत अच्छी तरह से जानता हूं|

तीसरे चोर ने कहा कि मैं सूंघकर बता सकता हूं कि माल कहां पर दबा हुआ है|

चौथे ने कहा कि मैं जानवरों की बोली समझ सकता हूं कि वह क्या कहते हैं|

पांचवें चोर ने कहा कि मैं जिसको रात में एक बार देख लेता हूं, दिन में भी उसकी पहचान कर लेता हूं|

 

यहां click करे- बाज़ का पुनरजन्म- आखिर बाज़ ने ऐसा क्यो किया| जानिए बज़ की ज़िंदगी (life) का एक अनोखा सच्च | जिससे आपको बहुत motivation मिलेगा |ज़रूर शेयर करे अपने  whatsapp ग्रुप  पर अपने दोस्तों और रिश्तेदारों को |

बादशाह और पाँच चोर | hindi moral stories

बादशाह सोच रहा था कि मैं क्या कहूं? जब सारे चोर अपना अपना गुण बयान कर चुके, तब बादशाह ने कहा कि मेरी दाढ़ी में यह कमाल है कि चाहे कितने भी बड़े अपराध करने वाले चोर-डाकू फांसी पर चढ़ रहे हो, यदि मैं जरा सी दाढ़ी हिला दूं तो सब आजाद हो जाते हैं|

 

 

चोरों ने जब बादशाह का यह गुण सुना तो उनको यह गुण सबसे अच्छा लगा|उन्होंने बादशाह को ही अपना सरदार बना लिया| पास में ही उस बादशाह का महल था| उन चारों में यह सलाह हुई कि आज बादशाह के महल में चोरी करेंगे| बादशाह भी मजबूर था| जब वह सारे चोर महल की ओर चलने लगे तो रास्ते में एक कुत्ता भौंकने लगा|

 

महल में पहुंचकर पहले चोर ने फंदा लगाया| सारे चोर और बादशाह ऊपर चढ़ गए| दूसरे चोर ने सेंध लगाई तीसरे चोर ने सूंघकर खजाने का पता लगाया और चोरी करने के बाद सभी चोरों ने माल आपस में बांट लिया और अपने अपने घरों को चल दिए|

 

अगले दिन बादशाह ने अपने आदमी भेजकर चोरों को पकड़वा लिया और फांसी का हुक्म दे दिया|

जब फांसी लगने लगी तो पांचवा चोर सामने आया और बादशाह से कहने लगा:-” हुजूर! मैंने आपको पहचान लिया है क्योंकि आप ही रात को हमारे साथ थे| हम पर रहम करो और हमें फांसी से बचा लो| हम सच्चे दिल से संकल्प लेते हैं कि आज से कभी भी चोरी नहीं करेंगे बल्कि आपकी सेवा में सारी उम्र लगा देंगे|”

बादशाह ने अपनी दाढ़ी हिला दी और दाढ़ी हिलाते ही पांचो चोर फांसी के तख्ते से उतार लिए गए| वे पांचों चोर हमेशा के लिए आजाद होकर बादशाह की सेवा में लग गए|

 

बादशाह और पाँच चोर | hindi moral stories

Advertisement

सीख:- moral stories
ईश्वर हर किसी को जीवन मे सही मार्ग पर चलने का मौका देता है उन्हे सही मार्ग पर लाने के लिए ऐसे ही खेल खेलता है| 

 

 

ज्ञान से भरी कहानियाँ |new moral stories in hindi-moral stories in hindi – शिक्षा प्रद कहानियों का रोचक सफर

 

जरूर पढ़ें  – जिंदगी बादल देने वाली ज्ञान से भारी 100 रोचक कहानियाँ 

जरूर पढ़ें  – जीवन के अद्भुत ज्ञान से भरी 10 सबसे महान कहानियाँ 

जरूर पढ़ें  – अनमोल ज्ञान से भरी 10 अद्भुत कहानियाँ 

जरूर पढ़ें  –  जीवन के अनमोल ज्ञान से भरी 50 hindi moral stories 

जरूर पढ़ें  – बच्चो के लिए ज्ञान से भरी 50 सर्वश्रेष्ठ  कहानियाँ

जरूर पढ़ें  – मौजी साधू | best hindi moral story

जरूर पढ़ें  – बुद्धिमान खरगोश की चतुराई 

जरूर पढ़े – बुद्धिमान हंस | hindi moral story for kids 

जरूर पढ़ें  – new moral stories

जरूर  पढ़े – शादी के बाद भी पत्नी का बॉयफ्रेंड – best moral story 

 

 

ज्ञान से भरी किस्से कहानियों का रोचक सफर | यहाँ मिलेंगे आपको तेनाली रामा और बीरबल की चतुराई से भरे किस्से ,  विक्रम बेताल की कहनियों का रोचक सफर , भगवान बुद्ध  कहानियाँ , success and motivational stories और ज्ञान से भरी धार्मिक कहानियाँ 

 

moral-stories-in-hindi

 

Advertisement
Advertisement
Advertisement

You may also like...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *