motivational story for success in Hindi | Bill Gates

motivational story for success in Hindi Bill Gates आज हम फिर एक बार आपके समक्ष एक ऐसे मनुष्य की जीवनी (Biography) लेकर प्रस्तुत हुए हैं ,जिन्होंने अपने जीवन में अपनी कड़ी मेहनत से न केवल सफलता (success) के शिखर को छुआ, अपितु इतनी प्रसिद्धि (achievements) भी प्राप्त की , कि ! वह कई लोगों के प्रेरणा स्रोत बन गए – इनका नाम है “बिल गेट्स” (Bill Gates) |

 

बिल गेट्स (Bill Gates) को किसी परिचय कि आवश्यकता नहीं है, वह पूरी दुनिया में अपने कार्यों से जाने जाते हैं | हम सभी यह भली भांति जानते हैं कि दुनिया की सर्वश्रेष्ठ Software Company “Microsoft” की नींव भी Bill Gates के द्वारा ही रखी गयी है |

आइये आज हम  “motivational story for success in Hindi”  मे आपको बिल गेट्स की जीवनी (Bill Gates Biography in Hindi) की विस्तार पूर्वक जानकारी देते हैं जिसमे बिल गेट्स (Bill Gates) ने मेहनत ,त्याग और स्ंघर्स के चलते इतना बड़ा मुकाम हासिल किया |

 

 

motivational story for success in Hindi | Bill Gates

 

motivational story for success in Hindi

motivational-story-for-success-in-hind
motivational story for success in Hindi

 

 

बिल गेट्स का परिवार (Family of Bill Gates)

बिल गेट्स Bill Gates का वास्तविक तथा पूर्ण नाम विलियम हेनरी गेट्स (William Henry Gates) है | इनका जन्म 28 October, 1955 को वाशिंगटन के सिएटल में हुआ |

motivational story for success in Hindi

motivational-story-for-success-in-hind
motivational story for success in Hindi

 

इनके परिवार में इनके अतिरिक्त चार और सदस्य थे – इनके पिता विलियम एच गेट्स जो कि एक मशहूर वकील थे, इनकी माता मैरी मैक्‍सवेल गेट्स जो प्रथम इंटरस्टेट बैंक सिस्टम और यूनाइटेड वे के निदेशक मंडल कि सदस्य थी तथा इनकी दो बहनें जिनका नाम क्रिस्टी और लिब्बी हैं |

 

साधारण से परिवार में जन्में Bill Gates की दो बहनें Kristainne और Libby थी. उनके पिता William Henry Gates एक Law के विध्यार्थी थे, जब वे पहली बार अपनी होने वाली बीवी, Mary Maxwell से मिले. वे University of Washington में पढ़ने के साथ-साथ अच्छी कसरती-खिलाडी (Athletic) थी.

motivational story for success in Hindi

motivational-story-for-success-in-hind
motivational story for success in Hindi

और वर्तमान में वे उसी University में विध्यार्थीयों का मार्गदर्शन करती हैं. जब अपने परिवार के साथ गर्मियों की छुट्टियों में कसरती खेलो को खेलते थे, तब ही Bill को कम उम्र में ही दुनिया में चल रहे संघर्ष और Competition का अंदेशा लग गया था.

 

Advertisement

Bill का उनकी माँ के साथ बहुत ही गहरा रिश्ता था. Mary, जो कि बच्चों को पढाती थी, जिन्होंने अपना पूरा समय बच्चों के Career को कामयाब बनाने में, प्रोत्साहन करने के साथ सामाजिक मतभेदों को दूर करने और दान-पुण्य में व्यतीत कर दिया. वे Bill को कई बार अपने साथ उनकी समाजसेवा के कार्यो में अलग-अलग School और संस्थाओ में ले जाया करती थी.

motivational story for success in Hindi

motivational-story-for-success-in-hind
motivational story for success in Hindi

Bill Gates ने अपने बचपन का भी भरपूर आनंद लिया तथा पढ़ाई के साथ वह खेल कूद में भी सक्रिय रूप से भाग लेते रहे |

 

बिल गेट्स का बचपन (Childhood of Bill Gates) and school life

 

Bill Gates में बचपन से ही पढने की एक अलग ही भूख थी. वे घन्टो तक अपनी School की सन्दर्भ पुस्तकों के साथ-साथ Encyclopedia भी पढ़ा करते थे. School के समय में भी वे पढ़ने में बहुत ही अच्छे थे, लेकिन वे जल्द ही कई बार उससे बोर भी हो जाते थे.

 

motivational story for success in Hindi

motivational-story-for-success-in-hind
motivational story for success in Hindi

लगभग 11-12 साल की उम्र में ही Bill के परिवार वाले उनके ऐसे व्यव्हार की वजह से चिंता करते थे कि कही Bill अकेले न पढ़ जाये. इसी वजह से उनके माता-पिता को यह द्रृढ विश्वास आ गया था कि Bill को सार्वजनिक शिक्षा दी जाये.

 

 

जब वे 13 साल के हुए तब उनके परिवार ने उन्हें Seattle Lakeside School, जो कि एक प्रारंभिक School है, वहाँ भर्ती करवा दिया गया. वे लगभग सभी विषयों में अच्छे थे, लेकिन गणित और विज्ञान को समझने की उनकी काबिलियत बहुत ही अच्छी थी. और इसी के साथ वे School में नाटकों में भी भाग लिया करते थे.

 

 

Lakeside School में एक Seattle Computer Company ने विद्यार्थियों को उनके खाली समय के लिए Computer सिखने और उसे जानने के लिए Computer दिए. जल्द ही Bill की Computer में रूचि बढ़ने लगी और ज्यादा से ज्यादा समय वे Computer किस तरह काम करता हैं,

Advertisement

 

 

इसी में बिताने लगे. उन्होंने फिर एक Basic Computer भाषा में एक “Tic-Tac-Tow” Program बनाया जिससे कि Computer चलाने वाला Computer के विरुद्ध खेल सके.

motivational story for success in Hindi

Advertisement
motivational-story-for-success-in-Hindi
motivational story for success in Hindi

 

यही वो School था जहाँ Bill की मुलाक़ात Paul Allen से हुई जो उनसे दो साल Senior (बड़े) थे. अपनी Computer की मिलती धारनाएँ और विचारो की वजह से वे दोनों अच्छे दोस्त बन गए, जबकि उनकी दूसरी बातों में उनके विचार बिल्कुल भी मिला नही करते थे.

 

 

Paul Allen बहुत ही शर्मीले और शांत स्वभाव के थे. जबकि Bill उनके स्वभाव में बिल्कुल अलग थे. दोनों अपना ज्यादातर समय Programming में गुजारते थे. अनियमित रूप से उनके बिच यह बहस होती रहती थी कि कौन सही है और कौन उनके School की Computer Lab को चलाने में काबिल हैं.

 

 

और दूसरी ओर Gates और Allen को उनकी School में Computer की जो सुविधा उपलब्ध थी उस पर Company ने रोक लगवा दी, क्योंकि वे दोनों अपने Computer सिखने के वक़्त के अलावा भी सारा वक़्त Lab में बिताते थे और Company के Softwares के साथ छेड़-छाड़ किया करते थे.

motivational story for success in Hindi

motivational-story-for-success-in-Hindi
motivational story for success in Hindi

उनकी इस रोक के बाद दोनों को फिर से इस शर्त पर Lab में आने की इजाजत मिल गई, कि वे PROGRAM से ERROR निकाले. इसी समयकाल में Gates ने एक और Software Program बनाया जो School के Time Schedule में काम आता था.

 

 

 

15 साल कि उम्र में Bill Gates की पहली कमाई $20,000 |motivational story for success in Hindi

सन् 1970, 15 साल कि उम्र में ही Bill Business की ओर अपने बेस्ट फ्रेंड Paul Allen के साथ चल दिये. उन्होंने “Traf-O-Data” Program बनाया जों की Seattle City के Traffic Pattern पर नज़र रखता था और उसे बेहतर करने की कोशिश करता था. और उन्हें इस कोशिश के $20,000 मिले, जो इनकी पहली कमाई थी.

 

motivational story for success in Hindi

motivational-story-for-success-in-Hindi
motivational story for success in Hindi

 

Gates और Allen खुद एक Company खोलना चाहते थे, लेकिन माता-पिता यह चाहते थे की Bill पहले अपना School और College की पढाई पूरी कर वकील बन जाये. Lakeside School में 1973 में SAT Exam (Intellectual Achivement) में 1600 में से 1590 अंक प्राप्त कर Bill Gates ने अपनी बुद्धिमता का परिचय दिया.

 

 

Advertisement

 

Bill Gates Passion

कंप्यूटर प्रोग्रामिंग के प्रति बिल गेट्स की लगन (Bill Gates Passion for Computer Programming)
इसके पश्चात गेट्स डीईसी (DEC), पीडीपी (PDP), मिनी कंप्यूटर (Mini Computer) नामक सिस्टमों में दिलचस्पी दिखाते रहे, परन्तु उन्हें कंप्यूटर सेंटर कॉरपोरेशन द्वारा ऑपरेटिंग सिस्टम में हो रही खामियों के लिए 1 महीने तक प्रतिबंधित कर दिया गया |

motivational story for success in Hindi

motivational-story-for-success-in-Hindi
motivational story for success in Hindi

इसी समय के दौरान उन्होंने अपने मित्रों के साथ मिलकर सीसीसी के Software में हो रही कमियों को दूर कर लोगों को प्रभावित किया तथा उसके पश्चात वह सीसीसी के कार्यालय में निरंतर जाकर विभिन्न प्रोग्रामों के लिए सोर्स कोड का अध्ययन करते रहे और यह सिलसिला 1970 तक चलता रहा |

 

 

इसके पश्चात इन्फोर्मेशन साइंसेस आइएनसी. लेकसाइड के चार छात्रों को जिनमें Bill Gates भी शामिल थे, कंप्यूटर समय एवं रॉयल्टी उपलब्ध कराकर कोबोल (COBOL), पर एक पेरोल प्रोग्राम लिखने के लिए किराए पर रख लिया। इसके पश्चात उन्हें रोकना नामुमकिन था |

 

 

मात्र 17 वर्ष कि उम्र में उन्होंने अपने मित्र एलन के साथ मिलकर ट्राफ़- ओ- डाटा नामक एक उपक्रम बनाया जो इंटेल 8008 प्रोसेसर (Intel 8008 Processor) पर आधारित यातायात काउनटर (Traffic Counter) बनाने के लिए प्रयोग में लाया गया |

motivational story for success in Hindi

motivational-story-for-success-in-Hindi
motivational story for success in Hindi

 

1973 में वह लेकसाइड स्कूल से पास हुए तथा उसके पश्चात बहु- प्रचलित हारवर्ड कॉलेज (Harvard College) में उनका दाखिला हुआ | परन्तु उन्होंने 1975 में ही बिना स्नातक किए वहाँ से विदा ले ली जिसका कारण था उस समय उनके जीवन में दिशा का अभाव |

 

 

उसके पश्चात उन्होंने Intel 8080 चिप बनाया तथा यह उस समय का व्यक्तिगत कंप्यूटर (Personal Computer) के अन्दर चलने वाला सबसे वहनयोग्य चिप था, जिसके पश्चात बिल गेट्स को यह एहसास हुआ कि समय द्वारा दिया गया यह सबसे उत्तम अवसर है जब उन्हें अपनी स्वयं कि Company का आरम्भ करना चाहिए |

 

 

Gates के माता-पिता ने Bill का Admission, Harward University में यह सोचकर करवाया कि वे अपना Career Law में बना लेंगे, लेकिन उनके बचपन के दिनों को देखकर लग रहा था कि वे अपना ज्यादातर समय Class की जगह Computer Lab में बिताया करते थे क्योंकि उन्हें उसी में रूचि थी. और उसी में Career बनाना चाहते थे. फिर भी कम समय सोकर Law की पढाई करते थे. ताकि वे अच्छे अंको से पास हो सके.

Advertisement

 

 

Bill का Contact Paul Allen से ज्यादातर नहीं रहा क्योंकि Paul एक दूसरी Washington State University में पढने चले गए. जहाँ से उन्होंने दो साल बाद College छोड़ दिया और Paul Allen, Boston शिफ्ट हो गए, जहाँ वे Honeywell नाम की Company में काम करने लगे.

motivational story for success in Hindi

motivational-story-for-success-in-Hindi
motivational story for success in Hindi

1974 की गर्मियों में Bill ने भी Allen के साथ Honeywell Company को Join किया. इस समय के दौरान Allen ने Gates को एक बहुत ही मशहूर Electronic Magazine का भी भाग दिखाया, जो कि Altair 8800 Mini Computer KIT के Article पर आधारित था.

 

 

दोनों खुश थे इस बात की संभवता को लेकर कि अगर यह Computer बन गया तो दुनिया में इसका हर कोई आसानी से इस्तेमाल कर अपना काम आसान कर सकेगा. फिर एक छोटी सी Company ने Altair बनाया जोंकी New Maxico में हैं, जिसे MITS नाम से भी जाना जाता है.

 

Gates और Allen ने एक Company से Contact किया और घोषणा की कि वे एक Basic Software के Program पर काम कर रहे है, जो कि Altair Computer को चलाएगा. लेकिन असलियत में उनके पास कोई Altair नही था जिस पर वे Code को रन करवा सके. मगर वे जानना चाहते थे कि MITS Company ऐसा कोई Software बनवाने में रूचि रखती है या नही.

 

 

MITS और उसके President ED-Robbert ने उन दोनों को उनके द्वारा बनाये Codes का प्रदर्शन करने को कहा. Gates और Allen ने MITS के President से Request की कि उन्हें दो महीने Software लिखने के लिए Harward

 

Lab में जाने दिया जाए. Allen फिर ALBUQUERQUE में MITS में उस Software का टेस्ट करने चले गए. वे Software, जिसका उस वक्त तक किसी भी ALTAIR Computer में USE नही हुआ था. और वो Software सही से काम करने लगा.motivational story for success in Hindi

 

 

और MITS Comapny ने Allen को Comapny में काम करने के लिए रख लिया और उन्ही के साथ काम करने के लिए Bill ने भी अपनी Harward University छोड़ दी जिसने उनके माता-पिता की व्याकुलता बड़ा दी. सन् 1975 में Gates और Allen ने भागीदारी में Micro-Software की COMPANY खोली जो कि Micro Computers और Software बनाएगी.

 

 

Advertisement

फरवरी 1976, में Bill ने Computer में रूचि रखने वालो के लिए यह कहते हुए पत्र लिखा कि “बिना किसी Software को ख़रीदे उसका इस्तेमाल करना मतलब किसी नए Software को बनने से पहले ही रोक देना होगा”. इतना ही नही Developers की हिम्मत तो तब भी टूट जाती है, जब कुछ लोग Pirate Software(असली SoftwareS की Copy) बनाते हैं. तब Developers यही सोचते है कि हमने बे-वजह ही अपना महत्वपूर्ण समय ख़राब किया

 

और लोगों को Quality Software बना कर दिया. Bill ने जो पत्र लिखा था लोगों पर उसका कोई प्रभाव नही पढ़ा, फिर भी Bill को अपनी इस बात पर पूरा विश्वास था. जब उन पर यह अनुचित आरोप लगे कि उनके Business चलाने के तरीके गलत हैं. तो इसी कमजोरी को उन्होंने अपनी ताकत बनाकर अपना बचाव किया.

 

 

Bill का MITS के President के साथ एक बहुत ही उग्र सम्बन्ध था, और कई बार उनके ऐसे सम्बन्ध की वजह से दोनों में कहासुनी भी हुआ करती थी. इसके साथ ही Bill और Robbert में Software Development और Business चलाने के तरीको को लेकर भी अकसर टकराव होता रहता था. और Robbert Bill को बिगड़ा हुआ और अप्रिय मानते थे.

motivational story for success in Hindi

 

1977 में MITS Company के President Robbert ने अपनी Company एक दूसरी Computer Company को बेच दी. और वे Medical College में एडमिशन लेने के लिए Georgia लौट गये और बाद में उस प्रांत के Doctor बन गये. Robbert के Georgia चले जाने के बाद Bill और Allen ने Altair के लिए बनाये गए Software के Rights प्राप्त करने के लिए MITS के नए मालिक पर मुकदमा किया.

 

 

“Microsoft” ने अलग-अलग तरीको में सभी Computer कंपनियों के लिए Software Design किये. सन् 1978 के अंत में Bill ने अपनी Company का कारोबार Bellevue,Washington जो कि Seattle के पूर्व में है, शिफ्ट कर दी.

 

Bill अपनी जन्मभूमि, Pacific के उत्तर-पच्चिम में आकर बहुत ही खुश थे. Company के 25 जवान Employees पर यह जिम्मेदारी आ गई थी, कि कैसे वे इस Company को आगे बढ़ाये और उसके साथ ही Products को Develop करे , कैसे उनके Business को आगे बढ़ाये और कैसे उनके Softwares की Marketing करे.

 

 

Employees की कार्यकुशलता की बदौलत और Gates के द्वारा Employees को दी गई Direction से उन्होंने मात्र 23 साल की उम्र में $2.5 MILLION का एक ग्रॉस प्रॉफिट कमा लिया था.

 

Microsoft Company

माइक्रोसॉफ्ट कंपनी का उत्थान (The rise of Microsoft Company) motivational story for success in Hindi

MITS (Micro Instrumentation and Telemetry Systems) जिन्होंने एक माइक्रो कंप्यूटर का निर्माण किया था, उन्होंने गेट्स को एक प्रदर्शनी में उपस्थित होने कि सहमती दी तथा गेट्स ने उनके लिए अलटेयर एमुलेटर (Emulator) निर्मित किया जो Mini Computer और बाद में इंटरप्रेटर में सक्रिय रूप से कार्य करने लगा |

motivational story for success in Hindi

motivational-story-for-success-in-Hindi

Advertisement

इसके बाद Bill Gates व् उनके साथी को MITS के अल्बुकर्क स्थित कार्यालय में काम करने कि अनुमति दी गयी | उन्होंने अपनी जोड़ी का नाम Micro-Soft रखा तथा अपने पहले कार्यालय कि स्थापना अल्बुकर्क में ही की | 26 नवम्बर, 1976 को उन्होंने Microsoft का नाम एक व्यापारिक Company के तौर पर पंजीकृत किया |

 

 

Microsoft Basic कंप्यूटर के चाहने वालों में सबसे अधिक लोकप्रिय हो गया था | 1976 में ही Microsoft MITS से पूर्णत: स्वतंत्र हो गया तथा Gates और Allen ने मिलकर कंप्यूटर में प्रोग्रामिंग भाषा Software का कार्य जारी रखा |

motivational story for success in Hindi

motivational-story-for-success-in-Hindi
motivational story for success in Hindi

 

इनसे बाद Microsoft ने Albuquerque में अपना कार्यालय बंद कर Bellevue, Washington में अपना नया कार्यालय खोला | Microsoft ने उन्नति की ओर बढ़ते हुए प्रारंभिक वर्षों में बहुत मेहनत व् लगन से कार्य किया | गेट्स भी व्यावसायिक विवरण पर भी ध्यान देते थे, कोड लिखने का कार्य भी करते थे तथा अन्य कर्मचारियों द्वारा लिखे गए व् जारी किये गए कोड कि प्रत्येक पंक्ति कि समीक्षा भी वह स्वयं ही करते थे |

 

motivational story for success in Hindi

 

Bill की कुशाग्रता न केवल Software बनाने में थी. उसके साथ-साथ Business को भी आगे बढाने और Company को टॉप पर ले जाने की थी. उन्होंने जो कहा उन्होंने वैसा काम भी किया. Company में Employees द्वारा बनाये गए Code को वे जरूरत पढने पर खुद चेक करते और Error को निकाल देने का काम स्वयं किया करते थे.

 

 

Bill की मेहनत और लगन की वजह से Company की तरक्की दिन ब दिन Apple, Intel और IBM जैसी Hardware बनाने वाली Company की तरह बढती जा रही थी. Bill लगातार लोगों से Microsoft द्वारा बनाई गई Application के बारे में Feedback लिया करते और लोगों की जरुरतो के हिसाब से Apps में बदलाव किया करते.

 

और इस काम में इनकी माँ भी कई बार उनके साथ चली जाया करती थी. उनकी माँ Mary बहुत ही इज्ज़तदार व्यक्तियों में से एक के साथ, उनके IBM Board के Members से संबंध बहुत अच्छे भी थे. Mary के ही कारण Bill IBM के CEO से मिल पाए. motivational story for success in Hindi

 

 

नवम्बर 1980 में IBM एक ऐसा Software चाहता था जिससे अपना Personal Computer चला सके और इस Software को बनाने के लिए उन्होंने Microsoft के सामने प्रस्ताव रखा. IBM के CEO से पहली मुलाक़ात के वक़्त किसी ने Bill को ऑफिस का एक कर्मचारी समज्ञ कर उन्हें सबको कॉफ़ी पिलाने को कहा उस वक़्त Bill काफी जवान

 

Advertisement

दीखते थे और जल्दी ही IBM उनसे Impress हो गये. और Bill ने उन्हें Software बनाने के लिए राज़ी कर लिया, कि वे उनके Software से जुडी सारी जरूरते पूरी कर लेंगे. लेकिन परेशानी यह थी कि Microsoft Company IBM के लिए Basic Operating System नही बना पाया जो IBM के नए Computer को चला सके, लेकिन यह कोई अंत नहीं था.

motivational story for success in Hindi

motivational-story-for-success-in-Hindi
motivational story for success in Hindi

Bill ने एक ऐसा Operating System ख़रीदा जो इस प्रकार बना हुआ था जो कि IBM के Personal Computer के समान्तर काम करता था. उन्होंने उस Operating System के Developers से मिल कर पूरा Licence, Microsoft के नाम करने को कहा लेकिन उन्हें IBM के सौदे के बारे कुछ भी नहीं बताया. Company ने बाद में Microsoft पर मुकदमा चलाया की उन्होंने महत्वपूर्ण जानकारीयां (IBM की Deal) उनसे छुपा कर रखी.

 

 

Bill ने गुप्त रकम देकर मुक़दमा ख़ारिज करवा दिया यह कहकर कि उन्होंने कोई गलत काम नहीं किया.

Bill ने IBM PC को चलाये ऐसा अनुकूल Software ख़रीदा और ख़रीदे Software को IBM को $50,000 में बेंचा जो की उसकी असली कीमत थी.

 

 

IBM, Bill से उस Operating System का Source Code भी चाहता था जो उनके Operating System को चलाने कि Information उन तक पहुंचा सके.

 

 

लेकिन Bill ने उन्हें यह कहते हुए मना कर दिया कि IBM उनके द्वारा बेचे जा रहे Computer के साथ जो कानूनी तौर पर Software की Copies दे रहा है उसकी फीस Bill को दी जाए.

 

 

यह सब हो जाने के बाद Bill को उस Software का Licence मिल गया और उस O.S. का नाम रखा MS-DOS.
Microsoft ने इसी के साथ एक और Software बनाया जिसका नाम था Softcard जो Microsoft के Basic के साथ Apple 2 Machine में भी काम करता था.

 

 

इसके बाद जानी मानी Company IBM ने Microsoft के साथ काम करने में रूचि दिखाई, उन्होंने Microsoft से अपने पर्सनल कंप्यूटर के लिए बेसिक इंटरप्रेटर बनाने का अनुरोध किया |

 

Advertisement

 

कई कठिनाइयों से निकलने के बाद गेट्स ने Seattle Computer Products के साथ एक समझौता किया जिसके बाद एकीकृत लाइसेंसिंग एजेंट और बाद में 86-DOS के वह पूर्ण आधिकारिक बन गए और बाद में उन्होंने इसे आईबीएम को $80,000 के शुल्क पर PC-DOS के नाम से उपलब्ध कराया | इसके पश्चात Microsoft का उद्योग जगत में बहुत नाम हुआ |

 

 

इन 1978-1981 के बिच Microsoft की Growth धमाकेदार थी और उनका Staff 25 से बढकर 128 हो गया था. उनका Profit भी $4 Million से बढ़कर $16 Million तक पहुँच गया था . 1981 के मध्य में Gates Microsoft के President के साथ-साथ Chair Man बन गये थे और Allen, Executive Vice President बन गये.

 

 

1998 तक Microsoft का Business दुनियाभर में फ़ैल चूका था उनके Office भी Great Britain और Japan में खुल चुके थे उसी के साथ दुनिया के 30% Computer उन्ही के बनाये गये Software पर चल रहे थे.

 

लेकिन 1983 में MICROSOFT की एक और उसके Foundation से जुडी News आई की Paul Allen, Hodgkin’s नामक बीमारी से पीड़ित हो गये थे. वैसे उनका Cancer एक साल के Treatment के बाद छुट गया था लेकिन उन्होंने उसी साल Microsoft को इस्तीफा दे दिया था.

 

 

हर जगह यह अफवाह फैली की Allen ने Microsoft Company क्यों छोड़ी, कुछ लोगो ने कहा Bill ने उन्हे बाहर किया, तो कुछ ने कहा यह Allen का ज़िन्दगी बदल देने वाला अनुभव होगा और शायद उन्हें लगा की उनके पास और भी कई मौके है जहां पर वो अपना Time और पैसा Invest कर सकते है .

 

 

1981 में Microsoft को पुनर्गठित कर बिल गेट्स को इसका चेयरमैन व् निदेशक मंडल का अध्यक्ष बनाया गया | जिसके बाद Microsoft ने अपना Microsoft Windows का पहला संस्करण पेश किया | 1975 से लेकर 2006 तक उन्होंने Microsoft के पद पर बहुत ही अदभुत कार्य किया, उन्होंने इस दौरान Microsoft company के हित में कई महत्वपूर्ण निर्णय लिए |

 

 

 

Bill and Melinda Gates

Advertisement

बिल गेट्स का विवाह व् आगे का जीवन (Bill Gates Personal Life)
1994 में Bill Gates का विवाह फ्रांस में रहने वाली Melinda से हुआ तथा 1996 में इन्होंने जेनिफर कैथेराइन गेट्स को जन्म दिया | इसके बाद मेलिंडा तथा बिल गेट्स के दो और बच्चे हुए जिनके नाम रोरी जॉन गेट्स तथा फोएबे अदेले गेट्स हैं |

motivational story for success in Hindi

motivational-story-for-success-in-Hindi
motivational story for success in Hindi

 

वर्तमान में बिल गेट्स अपने परिवार के साथ वाशिंगटन स्थित मेडिना में उपस्थित अपने सुन्दर घर में रहते हैं, जिसकी कीमत 1250 लाख डॉलर है |

 

 

बिल एंड मेलिंडा गेट्स फाउंडेशन का उदय (Rise of the Bill & Melinda Gates Foundation)
वर्ष 2000 में उन्होंने अपनी पत्नी के साथ मिलकर बिल एंड मेलिंडा गेट्स फाउंडेशन (Bill and Melinda Gates Foundation) की नींव रखी जो कि पारदर्शिता से संचालित होने वाला विश्व का सबसे बड़ा Charitable Foundation था |

 

motivational story for success in Hindi

motivational-story-for-success-in-Hindi
motivational story for success in Hindi

 

उनका यह Foundation ऐसी समस्याओं के लिए कोष दान में देता था जो सरकार द्वारा नज़रअंदाज़ कर दी जाती थीं जैसे कि कृषि, कम प्रतिनिधित्व वाले अल्पसंख्यक समुदायों के लिये कॉलेज छात्रवृत्तियां, एड्स जैसी बीमारियों के निवारण हेतु, इत्यादि |

 

 

 

Bill and Melinda Gates Foundation

परोपकारी कार्य (Charitable Work)
सन 2000 में इस Foundation ने Cambridge University को 210 मिलियन डॉलर गेट्स कैम्ब्रिज छात्रवृत्तियों हेतु दान किये | वर्ष 2000 तक Bill Gates ने 29 बिलियन डॉलर केवल परोपकारी कार्यों हेतु दान में दे दिए |

 

 

लोगों की उनसे बढती हुई उम्मीदों को देखते हुए वर्ष 2006 में उन्होंने यह घोषणा की कि वह अब Microsoft में अंशकालिक रूप से कार्य करेंगे और बिल एंड मेलिंडा गेट्स फाउंडेशन में पूर्णकालिक रूप से कार्य करेंगे |

motivational story for success in Hindi

Advertisement
motivational-story-for-success-in-Hindi
motivational story for success in Hindi
motivational-story-for-success-in-Hindi
motivational story for success in Hindi

 

वर्ष 2008 में गेट्स ने Microsoft के दैनिक परिचालन प्रबंधन कार्य से पूर्णतया विदा ले ली परन्तु अध्यक्ष और सलाहकार के रूप में वह Microsoft में विद्यमान रहे |

 

 

M.S. का अविष्कार (The Invention of Microsoft)

हालांकि Apple, Microsoft की मुकाबले में होने के बावजूद 1981 में Apple ने उनके Macintosh Computer के Software Development करने के लिए Microsoft को मदद के लिए Invite किया. कुछ Developers, Microsoft Development और Macintosh के लिए बनायीं जा रही Microsoft Application दोनों में शामिल थे.

 

motivational story for success in Hindi

motivational-story-for-success-in-Hindi
motivational story for success in Hindi

 

इसी ज्ञान और सोच को साझा करने की वजह से Microsoft ने Window का अविष्कार किया.

 

Window ऐसा System था जो Mouse के Through चलता था जो Graphics के Base पर Text और Image को Screen पर दिखाता था.

 

Window MS-DOS से बिलकुल अलग था जहाँ MS-DOS में सभी Text Screen पर Code के रूप में दिखाई होते थे और प्रिंट करते समय यह पता नहीं चलता था कि कौनसा Document प्रिंट करना है. इस Problem को दूर करने के लिए Microsoft ने Window बनाया जो User को Document Graphics के रूप में दिखाया करता था,

 

जिससे उसे Use करने में आसानी हो गई. इसी वजह से बहुत लोगो ने यह Window ख़रीदा. Bill ने विज्ञापन अभियान (Advertising Campaign) में यह कहा कि Microsoft एक ऐसा Operating System तैयार कर रहा है जो Image को Graphics के रूप में दिखा कर Users के कार्यो को आसान बनाएगा. और उसका नाम Windows होगा.

 

और वह MS-DOS System पर आधारित PC Software पर चल जायेगा. और इस घोषणा के दो साल बाद windows launch किया. 1987 में micro-soft के प्रत्येक share कि कीमत $ 90.75 थी तब Bill सबसे अमीर बनने के करीब पहुच चुके थे और 1999 में जब stock की कीमत high हुइ तब $101 billion के साथ bill दुनिया के सबसे अमीर व्यक्ति बन गये.

 

आइये अब हम आपको बिल गेट्स की कुछ महत्वपूर्ण बातों से अवगत कराते हैं ;

Advertisement

मात्र 13 वर्ष कि आयु में अपना पहला कंप्यूटर प्रोग्राम टिक-टैक-टो लिखा |

विद्यालय में शिक्षा ग्रहण करते हुए ही उन्होंने कंप्यूटर प्रोग्राम बनाकर 4,200 डॉलर कमा लिए |

उन्होंने अपने अध्यापक से कहा था कि वह 30 वर्ष की आयु तक करोड़पति बन जाएंगे और मात्र 31 वर्ष की आयु में उन्होंने अरबपति बनकर दिखाया |

motivational story for success in Hindi

motivational-story-for-success-in-Hindi
motivational story for success in Hindi

फोर्ब्स की विश्व की सबसे अमीर लोगों की सूची में गेट्स का नाम लगातार 11 वर्षों तक पहले नंबर पर आता रहा |

उन्होंने दो किताबें भी लिखीं – The Road Ahead और Business @ The Speed of Thought |
पूरे जगत की सबसे बड़ी Software Company की नींव बिल गेट्स द्वारा ही रखी गयी |

 

 

सीने मे कामयाबी की आग लगा देने वाले

motivational कहानियों का रोचक सफर 

motivational thoughts and quotes 

 

apj Abdul Kalam की दिल छू जाने वाली success biography जरूर पढ़े 

जरूर पढ़े -फ़टे जूतों से लेकर gold मैडल जितने तक सफर -कैसे बनी DSP

2 रुपए से 500 करोड़ तक का सफर – जरूर पढ़े 

Motivation से भर देने वाली ये अद्भुत speech जरूर पढ़े 👇

 

सीने मे कामयाबी ( success) की आग लगा देने वाली  मन मे कामयाबी (success) का जुनून भर देने वाली खूब सारी  powerful motivational videos को देखने के लिए  👉यहाँ click करें 

 

 

Advertisement

मन मे कामयाबी का जुनून भर देने वाली और सही राह दिखाने वाली ऐसी ही और भी तमाम आर्टिकल को पढ़ने के लिए  यहाँ  👉click करो – 

 

 

 

सीने मे कामयाबी की आग लगा देने वाले

motivational कहानियों का रोचक सफर 

रोंगटे खड़े कर देने वाली inspirational story -जिद्द ने रचा इतिहास 

Arunima-sinha-biography -hindi

 

जरूर पढ़े – hima das inspirational story in hindi

himadas
hima das

जरूर पढ़े –Elon Musk success story hindi | सदी का महान क्रांतिकारी आदमी

elon-musk-success-story

 

 

Advertisement
Advertisement

Leave a Comment