republic day india क्यों और कैसे मनाया जाता है ?

republic day india क्यों और कैसे मनाया जाता है ?

 

republic day india  – 26 जनवरी  (26th January)  एक ऐसा दिन जिसे हर भारतीय बहुत धूम धाम से एक स्थान पर इकट्ठे होकर पूरी एकता और प्रेम के साथ मनाता है |

यह दिन हर भारतीय के लिए गौरवशाली दिन होता है क्योकि इस दिन पूरे भारत मे संविधान लागू हुआ था जिसने भारत को सही रूप मे आजादी दी और  सभी धर्म -मज़हब से ऊपर उठ कर हर भारतीय को एक नई पहचान  दिलाई |

 

गणतन्त्र दिवस (republic day) एक ऐसा शब्द है ,जिसे सुन  हर भारतीय (indian) के मन मे भारतीय संविधान (constitution of India) का इतिहास ,इसके बनने की प्रक्रिया ,इसमे लिखी बातें ,भारत की आजादी , और क्रांतिकारियों के बलिदान जैसी तमाम तस्वीरे और बाते दिमाग मे घूमने लगती है | 

 

पूरे 2 साल, 11 माह और 18 दिन मे महान लोगों के अथक दिन रात विचारों द्वारा बनी इस  भारतीय संविधान (constitution of India) का भारतीय (indian) लोगों के प्रति  बहुत सम्मान है |republic day india 

 

क्योकि यह संविधान ही है जो हर भारतीय को सभी धर्मो और मज़हबों से ऊपर उठकर एक समान नागरिकता का अधिकार देती है |हर भारतीय को एकता का पाठ पढ़ती है |

 

1 जनवरी से ही लोग गणतन्त्र दिवस (republic day) की तैयारी मे जुट जाते है |  गणतन्त्र दिवस (republic day) से कुछ दिन पहले ही

 

दिल्ली के राजपथ रोड पर रिहासल शुरू कर दी जाती है जिसमे परेड और भारतीय सैन्य शक्ति तथा हथियारों की झाकी निकाल कर भारतीय ताकत का परिचय दिया जाता है |

 

गणतन्त्र दिवस (republic day) यानी 26 जनवरी वाले दिन दिल्ली के राजपथ रोड से ले कर लालकिला तक बड़ा ही अद्भुत और भव्य समारोह होता है | इस दिन  भारत के राष्ट्रपति (president) प्रधानमंत्री से लेकर

 

राजनैतिक दल के केंद्रीय और दिग्गज नेता शिरकत करते है |इसके साथ भारत बहुत की बहुत सी नामी गिरामी हस्तियाँ और NRI तक इस अद्भुत दृश्य और समारोह को देखने के लिए आते है | republic day india 

 

 

26 जनवरी को ही क्यों मनाया जाता है गणतन्त्र दिवस (republic day)?

 

क्योकि इसी दिन हमरे भारत का संविधान लागू हुआ था उसी की खुशी मे यह दिन मनाया जाता है |

आज़ादी मिलने के बाद भारत की व्यवस्था को चलाने के लिए एक संविधान की जरूरत थी जिसे बनाने मे जवाहरलाल नेहरू ,भीमराव अंबेडकर ,मौलाना अबुलकलम ,राधा कृष्णन,जैसे और भी कई  महान लोगों के उच्च विचारों के अथक मेहनत और योगदान की वजह से पूरे  2 साल, 11 माह और 18 दिन भारत का यह महान संविधान तैयार हो पाया |

 

यूं तो दिसंबर 1949 को भारत का संविधान बनकर तैयार हो गया था लेकिन इसको भारत मे लागू करने का दिन 26 जनवरी तय किया गया |

 

इस प्रकार 26 जनवरी 1950 को भारत का संविधान लागू हुआ जिसने भारत को न सिर्फ एक नई पहचान दिलाई बल्कि हर भारतीय के हित से जुड़ी बहुत सी सौगाते भी दी |republic day india 

 

कैसे मनाया जाता है दिल्ली राजपथ पर गणतन्त्र दिवस (republic day)

गणतन्त्र दिवस (republic day) वाले दिन पूरे भारत से कोने कोने से लोग आकर इस भव्य समा रोह मे हिस्सा लेते है |

 

इस समारोह की शुरुआत भारत के राष्ट्रपति द्वारा की जाती है | सबसे  पहले भारत के राष्ट्रपति जी को पूरे  सम्मान और सुरक्षा के साथ राजभवन से लेकर समारोह स्थल तक लाया जाता है जो की कुछ ही दूरी पर होता है |

 

वहाँ सबसे पहले राष्ट्रपति प्रधानमंत्री जी  द्वारा शहीदों को श्रद्धांजली दी जाती है |

इसके तुरंत बाद 21 तोपों की सलामी के बाद राष्ट्रपति जी तिरंगा लहरा कर इस भव्य आयोजन की शुरुआत करते है | इसमे सबसे पहले प्रधानमंत्री जी अपना भाषण देते है फिर समारोह के आगे की प्रक्रिया शुरू की जाती है |

 

गणतन्त्र दिवस (republic day) वाले दिन  भारत में राष्ट्रीय अवकाश होता है। इसके एक दिन पहले भारत के राष्ट्रपति देश के समक्ष संबोधित करते हैं। जिसे रेडियो के साथ कई टीवी चैनेल्स में भी दिखया जाता है।

 

स्वतंत्रता दिवस को हर वर्ष देश के प्रधानमंत्री लाल किला पर तिरंगा फहराते हैं।

 

इसमे दिल्ली के राजपथ से लालकिला तक के 5 किलोमीटर लंबे रूट पर जल सेना ,वायु सेना ,थल सेनाओं के जवानो की परेड के बाद भारत के अलग अलग राज्यों की झाकियाँ निकाली जाती है | 

 

राज्यों के द्वारा निकाली जाने वाली इन मनमोहक अलग अलग प्रकार की झकियों मे भारत का कल्चर ,विविधता,और सांस्कृतिक धरोहर की झलक देखने को मिलती है |

 

इसके साथ सभी सेनाओं द्वारा अपने अपने शक्ति और साहस का प्रदर्शन किया जाता है | वहीं वायु से सेनाओं का आसमान मे हेलिकॉप्टर और लड़ाकू विमानों द्वारा  रोंगटे खड़े कर देने वाली कलाबाजियाँ लोगों की साँसे रोक देता है |

republic day india

 

भारतीय आधुनिक हथियारों और मिसाइलों  की झाकियाँ निकाल कर भारतीय शक्ति का परिचय दिया जाता है | जिसे देख हर भारतीय का सीना गर्व से फूल जाता है |

 

3 घंटे तक चलने वाला  इस अद्भुत समारोह को  देखने के लिए हजारो लोगों की भीड़ और नामी गिरामी हस्तियाँ हिस्सा लेती हैं |

 

 

इस दिन लाल किला से टीवी के डी डी नेशनल चैनल और आल इंडिया रेडियो में सीधा प्रसारण किया जाता है। आतंकवाद के खतरे को ध्यान में रखते हुए सुरक्षा के कड़े इन्तेजाम भी किये जाते हैं।

 

देश की राजधानी के साथ देश के अन्य सभी राज्यों में भी मुख्यमंत्री सम्मान के साथ तिरंगा फहराते हैं। 15 अगस्त को हमारे महान स्वतंत्रता सेनानियों को श्रधांजलि दी जाती और उनका सम्मान किया जाता है।

 

इस दिन देशभक्ति के गीत और नारे लगाये जाते हैं। वहीं कुछ लोग पतंग उड़ा कर आजादी का पर्व मनाते है।

 

republic day india

 

गणतन्त्र दिवस (republic day) की सुरक्षा व्यवस्था 

दिल्ली के अद्भुत और भव्य   गणतन्त्र दिवस (republic day) की  तैयारिया 1 जनवरी से ही शुरू हो जाती है |

गणतन्त्र दिवस (republic day) मे हिस्सा लेने तमाम लोगों की सुरक्षा व्यवस्था को ध्यान मे रखते हुए 26 जनवरी से पहले ही उन स्थानो का अच्छे से निरीक्षण कर लिया जाता |

 

गणतन्त्र दिवस (republic day) वाले  दिन  वहाँ जमा होने वाली लोगों की भीड़ और उनकी सुरक्षा व्यवस्था का पूरा जिम्मा वहाँ की स्थानीय पुलिस फोर्स और आर्मी पर होता है | जिसकी व्यवस्था बहुत पहले से सुनिश्चित कर ली जाती है |

जिसके चलते हर तरफ पुलिस कर्मी टहल करते रहते है |

 

ऐसे मनाया था भारत ने अपना सबसे पहला गणतन्त्र दिवस 26 जनवरी 1950

 

भारत का सबसे पहला गणतन्त्र दिवस (republic day)  कब और कहाँ मनाया गया था ?

republic day india  भारत ने अपना सबसे पहला गणतन्त्र दिवस (republic day) 26 जनवरी 1950 को इरविंद स्टेडियम मे मनाया था | जिसे देखने के लिए हजरों लोगो की भीड़ जमा हुई थी |

 

26 जनवरी 1950 को लगभग सुबह सवा 10 बजे भारत गणतन्त्र घोषित कर दिया गया था | साथ ही इसके तुरंत बाद लगभग साढ़े 10 बजे भारत के पहले राष्ट्रपति डॉ.राजेन्द्र प्रशाद जी ने भी  राष्ट्रपति पद की शपथ ली थी |

 

डॉ.राजेन्द्र प्रशाद का शपथ ग्रहण समारोह राष्ट्रपति भवन के दरबार हॉल मे आयोजित किया गया था | पहले गणतन्त्र दिवस समारोह मे डॉ.राजेन्द्र प्रशाद को पहले  21 सिपाहियों ने 

 21 बंदूकों  की सलामी दी थी | इसके बाद ये जानकर आपको हैरानी होगी की उस वक़्त राष्ट्रपति जी को आज की तरह लगजरी बुलटप्रूफ गाड़ियोँ मे नहीं बल्कि राजा महाराजाओं की तरह रथ पर लाया जाता था |

 

शुरू से ही भारत के गणतन्त्र दिवस (republic day) मे मुख्य अतिथियों की मौजूदगी रही है | पहले गणतन्त्र दिवस (republic day) के अवसर पर 

के राष्ट्रपति सुकर्णो मुख्य अतिथि बन कर आए थे | 

 

भारत के पहले गणतन्त्र दिवस (republic day) की परेड राजघाट यानी विजय चौक पर नहीं बल्कि इरविंद स्टेडियम मे हुई थी |जहां इस परेड को देखने के लिए लगभग 15 हजार लोग पहुंचे थे |republic day india 

 

फिर इसके बाद सन 1955 मे दिल्ली के राजपथ विजय चौक को ही गणतन्त्र दिवस (republic day)  के लिए स्थायी जगह बना दी गई |

 

 

भारत के पहले  गणतन्त्र दिवस (republic day)  की ऐतिहासिक और अनमोल तस्वीरे 

 

republic-day

 

 

republic-day

 

 

republic-day

 

 

 

भारत का स्‍वतंत्रता दिवस (Independence Day)

 

internet-speed
whatsaap-trick

 

GSET 30

 

यहाँ click करे – jio ला रहा है अपना एक धमाकेदार productजिसका नाम है jio गीगा फाइबर- जियो फाइबर /1000Mbps स्पीड वाली देश सबसे तेज इंटरनेट सर्विस 5 सितंबर से, वेलकम ऑफर में 4K टीवी और सेट टॉप बॉक्स फ्री |क्या है इसके price,function, और कैसे करनी है registration ?

 

जरूर पढ़े – Hindi GK | amazing facts of general knowledge klick hear ..

hindi-GK
hindi gk

 

 

hindi gk rochak jankari | ज्ञान की बाते….

hindi-GK
hindi gk

 

राममूर्ति नायडू | Rammurthy Naidu

 

जरूर पढ़े- भारत के बोधिधर्मन  bodhidharma मार्शल आर्ट के जन्म दाता-कुंग फूँ-

bodhidharma

 

यहाँ click करे – बासी  रोटी खाने के ज़बरदस्त फायदे  यह article पूरा पढ़ने के बाद कभी नहीं फेंकोगे बासी रोटी जानिए क्या सही तरीका बासी रोटी खाने का ?

 

 

 

यहां click करे- जानिए कितना खतरनाक है चक्की से पिसा हुआ आटा ? यह भी जानो की क्या होता है मल्टीग्रेन आटा ? यह कैसे तैयार होता है ? और यह स्वास्थ्य के लिए कितना लाभकारी होता है ?

multigrain-wheat-benefits

 

 

hindi stories with moral |100 रोचक कहानियाँ

 

 

जरूर पढ़े – क्या है यह CAA and CABक्यों हो रहा इस पर इतना बवाल |क्यों कर रही है जनता इसका इतना विरोध |what is CAA and CAB and NRC नागरिकता संशोधन विधेयक| 

 

Citizenship-Amendment-Act-2019

 

 

 

यहां click करे- आज से ही खाना बंद कर दो चीनी | sugar| यदि आप भीचीनी से बनी हुई या फिर direct चीनी दल केआर उसे पी  रहे हो या खा रहे हो तो हो जाओ सावधान |इस article मे  चीनी के सेवन से शरीर पर होने वाले हानिकारक प्रभाव के बारे मे आपको बताया गया है ।  इसके इलवा मिठास के लिए आप चीनी की जगह पर आप क्या क्या उपयोग कर सकते है उसके बारे मे भी बताया गया है ……………. 

 

shugar

 

 

यहां click करे- अब jio ग्राहको को देना होगा वॉइस कॉल पर 6 पैसा  प्रति मिनट – jio IUC charge ? जानिए  क्या है यह jio IUC charge ?

 

यहां click करे- मोबाइल से बनाए Duplicate Aadhaar card

 

यहां click करे- aise kre adhar card download

 

 

यहां click करे- अभी तक घर नहीं पहुँचा आधार कार्ड | ऐसे प्राप्त करे आधार कार्ड

 

यहां click करे अपना आधार कार्ड स्टेटस चेक करे | check aadhar card status

 

यहां click करे- Online FIR कैसे दर्ज करे

F.I.R

यहां click करे- अगर पुलिस FIR लिखने से मना कर दे तो ! करें ये करे

 

यहां click करे- प्रधानमंत्री आवास योजना पूरी जानकारी

 

 

यहां click करे- रक्षा बंधन के इस खास अवसर पर आपके लिए दिल को छु जाने वाली शयरिया और shayari | history | शुभ मुहूरत 2019 भी जाने । ज़रूर शेयर करे अपने  whatsapp ग्रुप  पर अपने दोस्तों और रिश्तेदारों को 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!