Earth-day

Earth day का इतिहास | पृथ्वी दिवस क्यों मनाया जाता है

Earth Day क्यों मनाया जाता है | पृथ्वी दिवस के बारे पूरी जानकारी.

नमस्कारा दोस्तों स्वागत है आप सभी का एक बार फिर से एक और अद्भुत जानकारी earth day (पृथ्वी दिवस) मे. आज विषय के बारे हर किसी को जानना और समझना बहुत जरुरी है. आज हम जानेंगे earth day क्या है? Earth day क्यों मनाया जाता है? Earth day का यह नाम कैसे पड़ा किसने रखा? सबसे पहली बार earth day कब और कहाँ मनाया गया था? Earth day की शुरुआत कैसे हुई?2022 ki earth day theme kya hai?

महात्मा गाँधी जी ने कहा था, की प्रकृति मे इतनी ताकत होती है की वह हर मनुष्य की बेसिक जरूरतों को तो पूरा कर सकती है.लेकिन “पृथ्वी”! कभी मनुष्य के लालच को पूरा नहीं कर सकती.

हालांकि मानव जीवन और प्रकृति को हमेशा से ही एक दूसरे का पूरक कहा जाता आ रहा है.

बिना पर्यावरण के मानव जीवन सहित जीव जगत की भी कल्पना नहीं जा सकती.

जैसा की हम सब जानते है की ग्लोबल वार्मिंग दुनियां भर मे आज एक बहुत बड़ी समस्या बनी हुई है.

पृथ्वी दिवस (earth day) पर्यावरण के प्रति जागरूकता पैदा करता है.

क्या आप जानते है की पृथ्वी दिवस (earth day) कब और क्यूँ मनाया जाता है?और इसके पीछे का इतिहास क्या है.

Earth-day

पृथ्वी दिवस क्या है | what is earth day 

यह एक वार्षिक आयोजन है. जिसे 22 अप्रेल को दुनियां भर मे पर्यावरण संरक्षण समर्थन प्रदर्शित करने के लिये आयोजित किया जाता है.

इस तारीख के समय उत्तरी गोलार्ध मे वसंत ऋतू और दक्षिणी गोलार्ध मे शरद ऋतू का मौसम रहता है.

Earth day (पृथ्वी दिवस) की स्थापना किसने को कब की?

पृथ्वी दिवस की स्थापना अमेरोकी सीनेटर जेराल्ड नेल्सन ने 1970 मे की थी. जिसे आज 22 अप्रेल 2022 को 52 साल पूरे हों चुके है. पहली बार इसकी शुरुआत पर्यावरण शिक्षा को मॉडल मान कर की थी.

1969 मे संता बारबरा, केलिफोरनिया के समुद्र मे तेल रिसाव की भरी बर्बादी को देखने के बाद इस दिवस की शुरुआत की थी.

आज पूरी दुनियां सहित 190 देशो मे पृथ्वी दिवस का आयोजन किया जाता है और उसे अपने अपने तरीके से मनाया जाता है.

22 अप्रैल 1970 को आयोजित पहले earth day selebeation मे 20 मिलियन यानी 2 करोड़ लोगो ने हिस्सा लिया था. जिसमे हर समाज, वर्ग, उम्र के लोग शामिल थे.उन दिनों यह एक आंदोलन के रूप मे था जो आज दुनियां के सबसे बड़े पर्यावरण आंदोलन के रूप मे बदल गया.

इस दौरान अमेरिका के हज़ारो कॉलेज मे और विश्वविद्यालयों ने पर्यावरण मे गिरावत और बुरी दशा के खिलाफ विरोध प्रदर्शन किया था.

Earth day क्यों मनाया जाता है?

पर्यावरण प्रेमी, स्वच्छ हवा, स्वच्छ पानी संरक्षण, जंगल कटाव को रोकने, समुद्र व नदियों मे बढ़ते polution को रोकने, समुद्र फ़ैलते तेल रिसाव को रोकने, नदियों मे फैक्ट्री के गंदे पानी को छोड़े जाने पर प्रतिबंध लगाने, एवं इस पर क़ानून बनाने तथा ग्लोबल वार्मिंग को बढ़ने से रोकने हेतु, earth day – पृथ्वी दिवस मनाया जाता है.

अतः भू दिवस -पृथ्वी दिवस (earth day ) बनाने का मकसद पर्यावण के प्रति लोगो मे जागरूकता पैदा करना और प्रकृति की सुरक्षा को बढावा देना है.

 

पृथ्वी दिवस (earth day) शब्द किसने दिया था?

Earth day,जुलियन कोनिग द्वारा 1969 मे दिया गया था. उन दिनों यह एक आंदोलन एवं क्रांति के रूप मे उजागर हुआ जो आज एक खास दिवस का रूप लें चुका है. आज का दिन यानी 22 अप्रैल पृथ्वी दिवस को ही समर्पित है.

 

Earth day को हर साल मनाने के लिये 22 अप्रैल का दिन रखा गया, इसी दिन कोनिग का जन्म दिन भी होता है. उन्होंने कहा था की earth day birth day के साथ ताल मिलाता है.

 

इसी दिन की याद मे अमेरिकन निवासी रौनकॉब ने एक परिस्थितिक प्रतीक का निर्माण किया था जिसे बाद मे पृथ्वी दिवस के रूप मे अपना लिया गया. ये एक प्रकार का लोगो है जो E और O अक्षरों को जोड़ कर बनाया गया है. यहां पर E का मतलब है environment और O शब्द का अर्थ है organism.

 

इस लोगो को लॉसएंजेलिस free प्रेस मे 7 नवंबर 1969 को प्रकाशित किया गया था जिसे हर किसी ने देखा. फिर बाद मे इसे सार्वजनिक domain मे रख दिया गया था.

Earth day website

पृथ्वी – धरती को प्रदूषित व खराब करने वाले फैक्टर.

पॉलीथिन – प्लास्टिक,  जल, वायु,मिट्टी और धरती सब के लिये बहुत नुकसान देह है, in वजहो से ज़ब पर्यावरण को नुकसान पहुँचता है तो वह अप्रत्यक्ष रूप से इंसानों और जीव जगत को भी नुकसान पहुँचाते है.

Earth-day

पर्यावरण दिवस और पृथ्वी दिवस के माध्यम से हम अधिक से अधिक लोगो को पर्यावरण के प्रति जागरूक करते है ताकी वह पर्यावरण के प्रति अपनी जिम्मेदारी को समझ पाए.

जिस हिसाब से लोग अपनी मूर्खतापूर्ण हरकतों से प्रदूषण फैला रहे है उस हिसाब से आने वाले समय मे स्वच्छ जल यानी पीने के पानी को लेकर बहुत बड़ी समस्या आने वाली है.

खेतो मे हद से ज़ादा जहर का छिड़काव और फसलों मे जहरीले कितनाशकों और अधिक पैदावार लेने के लिये उनमे केमिकल डालना मानव जाती के स्वस्थ्य के लिये एक बहुत बड़े खतरे की घंटी है.

इस पृथ्वी दिवस के मौक़े पर सभी लोग शपथ लो की ज़ादा से ज़ादा पेड़ लगाओगे और गंदगी नहीं फैलाओगे, कचरे का सही निपटारा करोगे, प्लास्टिक नहीं जलाओगे, और अपनी जिम्मेदारी को बखूबी निभा कर पर्यावरण को सुरक्षित रखोगे.

FAQ

2022 मे earth day theme क्या है?

इस बार पृथ्वी दिवस earth day 2022 की थीम है – Invest In Our Planet, यानी अपने धरती ग्रह पर निवेश.

तो आज के लिये बस इतना ही. हम अपने इस blog पर तमाम तरह की ऐसी जानकारी लाते रहते है जो आपको एक नई सीख सिखाती है जिससे हमारा समाज और देश प्रगति कर सके. हमसे यूँ ही जुड़े रहो 🙏🏻.

Global warming को कैसे कम करें

inernational Yoga Day क्या है  |क्यो मनाया जाता है

गाँधी जयंती 

Leave a Comment

Your email address will not be published.

Top 5 reason of shri lanka economic crisis unexplained miracles in history RBI jada note kyo nahi chapti itihas ka sabse amir aadmi duniya ke 10 sabse jahrile saamp Top 10 richest country Agnipath yojna | अग्निपथ योजना क्या है पूरी जानकारी Rape of nanking history in hindi  How to control your mind These 5 bad habits are the biggest obstacle to success