कर्मो का फल इसी संसार मे – Moral Story in Hindi

moral story in Hindi (मोरल स्टोरी इन हिन्दी)- स्वागत है आपका ज्ञान से भरी रोचक कहानियों की इस दुनिया मे। दोस्तों जीवन मे कहानियों का विशेस महत्तव है | इन कहानियो के माध्यम से हमे बहुत कुछ सीखने को मिलता है | इनकहानियों के माध्यम से आपको ज़रूरी ज्ञान हासिल होंगे जो आपको आपकी लाइफ मे बहुत काम आएंगे | यहाँ पर बताई गई हर कहानी से आपको एक नई सीख मिलेगी जो आपके जीवन मे बहुत काम आएगी | हर कहानी मे कुछ न कुछ संदेश और सीख छुपी हुई है | तो ऐसी कहानियो को ज़रूर पढ़े और अपने दोस्तो और परिवारों मे भी शेयर करे 

 

कर्मो का फल इसी संसार मे – दुसरो का अच्छा करोगे तो तुम्हारे साथ भी अच्छा ही होगा – Moral Story in Hindi.


कर्मो का फल इसी संसार मे – Moral Story in Hindi.-दोस्तो कर्म मे इतनी शक्ति होती है की  उसका फल और दंड  न सिर्फ इस जन्म मे बल्कि अगले कई जन्मो तक  इसका फल या दंड झेलना पड़ता है कर्म कभी पीछा नहीं छोड़ते| यदि अच्छा कर्म करोगे तो आपको उसका अच्छा फल मिलेगा और यदि बुरा करोगे तो बुरा दंड लेकिन मिलेगा ज़रूर ये तो पक्का है क्यो की यही संसार का नियम है और कर्म की नीती (rule) । ठीक इसी प्रकार यदि आप किसी का बुरा सोचोगे बुरा करोगे तो पलट के आपको उसका दोगुना दंड मिलेगा वो भी इसी जन्म मे । यही कर्म की नीती है ।

 

इसी बात को अच्छे से समझाने के लिए आज आपके लिए एक सच्ची (real life motivational स्टोरी)  कहानी लेकर आया हु | ताकि अछे से आपको कर्मो के विधान का पता चल जाए । तो चलिये शुरू करते है ।

 

 

 

यहाँ  click करे – कर्मों का फल या दंड मिलता ही मिलता है ऐसी 4 कहानिया  जो आपको अच्छा कर्म करने के लिय मजबूर कर दे यहा click करे और जानिए धर्म से जुड़े रोचक तथ्य 

 

 

 

 

कर्मो का फल इसी संसार मे – Moral Story in Hindi

 

दोपहर का वक़्त था, बारिश का मौसम बन रहा था और सड़क किनारे एक बूढी औरत उदास खड़ी थी. उस बूढी औरत की कार ख़राब हो गयी थी और बारिश की वजह से कोई उसकी मदद नहीं कर रहा था. तभी वहां से एक आदमी गुज़र रहा था जो देखने में थोड़ा गरीब लग रहा था. उस व्यक्ति ने बूढी औरत को देखा और उससे पुछा “क्या हुआ माता जी?? आप ठीक तो है?”

 

 

पहले तो वो बूढी औरत उस व्यक्ति को देख कर थोड़ा घबरा गयी, वो डर रही थी कि कही सुनसान सड़क पर वो आदमी उसे लूट ना ले. उस व्यक्ति ने बूढी औरत की घबराहट तुरंत समझ ली और फिर कहा ” घबराईये मत माता जी…मैं पास के गेराज में काम करता हूँ, मेरा नाम मनोज है. अगर आपको कोई मदद चाहिए तो मुझे बता सकती है”

 

 

फिर बूढी औरत ने कहा “मेरी गाडी ख़राब हो गयी है, बारिश भी होने वाली है, मेरी तबियत ख़राब हो जायेगी, क्या आप मेरी गाडी ठीक कर सकते हो?”

 

 

मनोज जो मैकेनिक था, उसने कहा “जी ज़रूर, आप पेड़ के नीचे खड़े रहिये, मैं देखता हूँ क्या दिक्कत है गाडी में”

 

 

कर्मो का फल इसी संसार मे – Moral Story in Hindi

 

मनोज ने 10 मिनट का समय लिया और गाडी ठीक कर दी, आखिर मैकेनिक जो था. उसने बूढी औरत के पास जा कर कहा “माता जी… आपकी गाडी ठीक हो गयी है, आप जा सकती है”

 

उस बूढी औरत ने मनोज से कहा “तुम्हारे पैसे कितने हुए बेटा?”

 

 

मनोज ने कहा “माँ जी, ये तो मैंने सिर्फ आपकी मदद करने के भाव से किया था लेकिन फिर भी अगर आप कुछ करना चाहती है तो एक काम कर देना. जब भी कोई ज़रूरतमंद मिले, उसकी मदद कर देना और मुझे याद कर लेना, अच्छा माँ जी चलता हूँ”

 




इतना कह कर मनोज अपने रस्ते को चल दिया और वो बूढी औरत भी. कुछ दूर जाते ही बूढी औरत एक रेस्टोरेंट के पास रुकी, उसे भूख लगी थी और उसने सोचा कि कुछ खा लू.

 

 

वो बूढी औरत रेस्टोरेंट में बैठी थी कि तभी उसका आर्डर लेने एक महिला वेटर आई जो कि करीबन 7 से 8 महीना प्रेग्नेंट थी लेकिन फिर भी चेहरे पर बिना किसी शिकंज के वो बूढी औरत का आर्डर लेने के लिए खड़ी थी.

 

 

 

कर्मो का फल इसी संसार मे – Moral Story in Hindi

उस बूढी औरत ने खाना खाया और Rs 5000 की टिप उस वेटर लड़की को दी और उसे कहा “बेटी…जब भी हो सके तो तुम किसी ज़रूरतमंद की मदद कर देना। उस प्रेग्नेंट औरत को पता चला कि वो बूढी औरत शहर में सबसे अमीर है और अकेली रहती है. वो प्रेग्नेंट औरत 5000 रुपये की टिप पा कर बहुत खुश थी

 

 

 

शाम को वो प्रेग्नेंट औरत घर गयी, अपने पति को गले लगते हुए बोली मनोज, अब हमें हॉस्पिटल के बिल की चिंता करने की ज़रूरत नहीं. एक भली औरत ने आज मुझे 5000 रुपये की टिप दी. अब हम डिलीवरी अच्छे से करवा सकते है. ये सुन कर मनोज बहुत खुश हुआ लेकिन उसे ये एहसास नहीं हुआ कि जिस बूढी औरत की उसने मदद की थी, उसी महिला ने मनोज की बीवी को टिप दी.

 

 

कहानी का मोरल: दुसरो का अच्छा करोगे तो आपका भी अच्छा ही होगा. हमेशा दुसरो की मदद करे, अच्छे कर्म करे, आपको इसका अच्छा फल ही मिलेगा !

 

कर्मो का फल इसी संसार मे – Moral Story in Hindi

 

 

यह कहानी आपको कैसी लगी ? नीचे कमेंट करके जरूरु बताना। और इस जानकारी (article) को जादा से जादा लोगो तक शेयर (share)करे ताकि उन तक भी यह  पहुच सके।

और यदि आपके पास भी कोई motivational story , या कोई भी ऐसी ज़रूरी सूचना  जिसे आप लोगो तक  पहुंचाना  चाहते हो तो वो आप हमे इस मेल 

(mikymorya123@gmail.com) पर अपना नाम और फोटो सहित send कर सकते है । आपकी भेजी गई इस पोस्ट को  आपके नाम और फोटो के साथ यहा पर पोस्ट किया जाएगा | जितना अधिक ज्ञान बाटोगे उतना ही अधिक ज्ञान बढेगा। धन्यवाद.

 

यहां click करे-  कामयाबी (success) का दूसरा नाम steve jobs- एक ऐसा इंसान जिसके नसीब मे कालेज की पढ़ाई नही थी और अपनी ही कंपनी से निकाल दिया जाता है वो एक दिन आगे चलकर कैसे डिजिटल की दुनिया का किंग बन जाता है ?real life inspirational stories in hindi

 

 

 

 

 

यहां click करे- motivational story for success |क्या है सभ्य होने का असली अर्थ|

 

 

 

यहां click करे- बढ़ई और लोहार की motivational story in hindi

 

 

 

यहां click करे-पति पत्नी का बलिदान | motivational story in hindi

 

 

 

यहां click करे-motivational story in hindi | कहनी एक अंधी लड़की की

 

 

यहां click करे-kaise bna ek रिक्शेवाले  का बेटा IAS officer

 

यहां click करे-motivational for success 90% समस्या का हल

 

 

 

 

यहां click करे- motivational story | फकीर बाबा

 

 

यहां click करे-motivational story IN HINDI | दूसरों की life को अच्छा बोलने वाले इसे ज़रूर पढ़े

 

 

 

2 thoughts on “कर्मो का फल इसी संसार मे – Moral Story in Hindi

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!